भक्तों से रूठे बाबा बर्फानी , 15 दिनों में हुए अंतर्ध्यान

14 जुलाई को बाबा बर्फानी का आकार महज कुछ इंच का ही रह गया है.

जम्मू : ऐसा लगने लगा है कि बाबा बर्फानी अपने भक्तों से रूठ गए हैं. अमरनाथ यात्रा पूरी होने से पहले ही बाबा बर्फानी 15 दिन में अंतर्ध्यान हो गए हैं. लगातार कई वर्षो से यात्रा के कुछ सप्ताह बाद ही हिमलिंग पूरी तरह से पिघल जाता है।

बावजूद भक्तों में यात्रा को लेकर उत्साह बना रहता है। इस बार यात्रा शुरू होने से पहले बाबा बर्फानी का आकार करीब चौदह फीट था। एक सप्ताह पहले तक यह मात्र पांच फीट ही रह गया था।

अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने हालांकि हिमलिंग को पिघलने से रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं। पहले हेलीकॉप्टर पवित्र गुफा के बाहर कुछ दूरी पर उतरता था। उस समय यह कहा गया कि इसी कारण हिमलिंग जल्द पिघल जाता है। इसके बाद श्राइन बोर्ड ने हेलीकॉप्टर को पवित्र गुफा से पांच किलोमीटर दूर पंजतरणी में उतारना शुरू किया।

पवित्र गुफा में जिस शिवलिंग का आकार कई फीट का हुआ करता था, अब वो पूरी तरह पिघल चुके हैं.

हर-हर महादेव के जयघोष के साथ बड़े ही उल्लास के साथ शुरू हुई थी अमरनाथ यात्रा. लेकिन, यात्रा शुरू होने के 18 दिन बाद ही बाबा बर्फानी अंतर्ध्यान होने लगे हैं. अचानक 14 फीट का शिवलिंग पिघलकर रहस्यमयी तरीके से छोटा हो गया है. 14 जुलाई को बाबा बर्फानी का आकार महज कुछ इंच का ही रह गया है.

Back to top button