SA vs SL: श्रीलंका के कुशल परेरा अपने सर्वश्रेष्ठ पारी के लिए चुने गए मैन ऑफ द मैच

श्रीलंका ने पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका पर 1 विकेट से रोमांचक जीत दर्ज की।

मैन ऑफ द मैच कुशल परेरा (153 नाबाद) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और विश्वा फर्नांडो (6 नाबाद) के बीच आखिरी विकेट के लिए हुई|

78 रनों की रिकॉर्ड नाबाद साझेदारी के दम पर श्रीलंका ने पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका पर 1 विकेट से रोमांचक जीत दर्ज की।

श्रीलंका ने 304 रनों के टारगेट को 85.3 ओवरों में 9 विकेट खोकर हासिल किया। इस जीत के साथ ही श्रीलंका ने दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई।

इस मैच विजयी पारी के दौरान परेरा ने ऐसा कारनामा किया जो द. अफ्रीका में इससे पहले कोई एशियाई बल्लेबाज नहीं कर पाया था।

दक्षिण अफ्रीका के पहली पारी में 235 रन के जवाब में श्रीलंका की पहली पारी 191 रन पर सिमटी थी।

44 रन से आगे दक्षिण अफ्रीका ने दूसरी पारी में 259 रन बनाकर श्रीलंका के सामने जीत के लिए 304 रनों का लक्ष्य रखा था।

श्रीलंका ने चौथे दिन सुबह 83/3 से आगे खेलना शुरू किया। मेहमान टीम ने 110 के स्कोर पर ही ओसादो फर्नांडो (37) और निरोशन डिकवेला (0) का विकेट गंवा दिया।

इसके बाद कुशल और धनंजय डीसिल्वा (48) ने छठे विकेट के लिए 96 रन की साझेदारी कर टीम को संकट से बाहर निकाला।

श्रीलंका ने एक बार फिर 206 के स्कोर पर ही डीसिल्वा और सुरंगा लकमल (0) के विकेट गंवा दिए।

श्रीलंका की टीम एक समय 226 के स्कोर पर 9 विकेट गंवाकर हार के कगार पर खड़ी थी और दक्षिण अफ्रीका को यहीं से मैच जीतने के लिए सिर्फ एक विकेट झटकना था|

लेकिन कुशल ने और कोई विकेट नहीं गिरने दिया। उन्होंने अपनी संघर्षपूर्ण पारी के दम पर विश्वा फर्नांडो ( 6 नाबाद) के साथ 78 रनों की अविजित भागीदारी कर टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाई।

उन्होंने रबाडा की गेंद पर चौका लगाकर टीम को जीत दिलाई। कुशल 200 गेंदों का सामना कर 12 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 153 रन बनाकर नाबाद रहे।

यह कुशल का यह दूसरा शतक है। उन्होंने इससे पहले 2016 में हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ 110 रन की शतकीय पारी खेली थी। बाएं हाथ के स्पिनर केशव महाराज ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए।

28 वर्षीय कुशल दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट की चौथी पारी में शतक लगाने वाले पहले एशियाई क्रिकेटर बन गए। इसके साथ ही वे दक्षिण अफ्रीका में शतक जड़ने वाले चौथे श्रीलंकाई क्रिकेटर भी बने।

300 से अधिक रन का लक्ष्य SENA (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) देशों में टेस्ट मैच की चौथी पारी में हासिल करने वाली पहली एशियाई टीम बन गई श्रीलंका।

01 विकेट से श्रीलंका को मिली जीत टेस्ट इतिहास में इस तरह की 13वीं जीत है। 2010 में भारत ने मोहाली में एक विकेट से ऑस्ट्रेलिया को हराया था|

इसके बाद पहली बार किसी टीम को इस तरह से पहली जीत हासिल हुई। 10वें विकेट के लिए श्रीलंका की 78 रनों की नाबाद साझेदारी टेस्ट में चौथी पारी में जीत हासिल करते हुए सबसे बड़ी साझेदारी है।

इससे पहले इंजमाम और मुश्ताक अहमद ने 1996 में कराची में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 57 रनों की नाबाद साझेदारी की थी।

153 रनों की नाबाद पारी खेलने वाले कुशल परेरा विदेशों में टेस्ट में जीत हासिल करते हुए चौथी पारी में सर्वश्रेष्ठ स्कोर करने के मामले में दूसरे एशियाई बल्लेबाज बने।

उनसे आगे यूनुस खान (नाबाद 171) और तीसरे नंबर पर शान मसूद (125) है।

Back to top button