सास और बहू का रिश्ता एक नाजुक डोर, समझनी चाहिए ये 6 बातें

लड़की जब बहू बनकर दूसरे घर जाती है तो ससुराल वालों को उससे बहुत-सी उम्मीदें होती हैं, खासकर सास को।

फिर चाहे बात घर संभालने की हो या निजी जिंदगी में संतुलन बनाने की, सास बहू से कुछ ज्यादा ही उम्मीद रख लेती है।

सास और बहू का रिश्ता एक नाजुक डोर से बंधा होता है। ऐसे में इस डोर को संभालने के लिए जहां लड़की को अपनी सास की हर बात माननी चाहिए वहीं उनकी सास को भी चाहिए|

कि वो नई-नवेली दुल्हन से इन बातों की हद से ज्यादा उम्मीद ना रखें और उन्हें उनकी जिंदगी संभालने का मौका दें।

नहीं दे सकती मां जैसा प्यार

मां-बेटी का रिश्ता दुनिया में सबसे अलग होता है। ऐसे में सास को समझना चाहिए कि वह उनकी जिंदगी में मां की जगह नहीं ले सकती|

लेकिन ऐसा भी नहीं कि बहू सास का सम्मान ना करें। बस सास को चाहिए कि वह अपनी बहू को समझें और उसका साथ दें।

सिर्फ बहू ही क्यों करें एजस्ट?

हर रिश्ता दो तरफा होता है तो ऐसे में सिर्फ बहू ही क्यों एजस्ट करें। सास को समझना चाहिए कि उनकी बहू की भी अलग-अलग आदतें और जरूरतें हैं|

उन्हें इस नई जीवनशैली के अनुकूल होने में कुछ समय लगेगा। इसके अलावा सास को चाहिए कि बहू को इस नए माहौल में एजस्ट होने के लिए मदद करें।

बहू की भी होती है अलग पर्सनैलिटी

आजकल की पढ़ी-लिखी लड़कियां दुनिया को अपनी नजर से देखना पसंद करती हैं। ऐसे में सास को उनके बीच मौजूद जनरेशन गैप खत्म करते हुए बहू को वैसे ही स्वीकार करना चाहिए जैसी वो है।

धीरे-धीरे सीखाती हैं घर के काम

हर किसी का खाना बनाने और काम करने का तरीका अलग-अलग होता है। ऐसे में बहू पहले दिन ही तो सभी काम नहीं सीख सकती।

लड़की जब नए माहौल में जाती है तो धीरे-धीरे उनके तौर-तरीके सीखती है। बस सास को अपनी बहू की मदद करनी चाहिए, ताकि वह नए माहौल में जल्दी एजस्ट हो सके।

बहू को भी चाहिए समय

जब बहू ऑफिस से घर लौटती है तो सास उसके साथ पड़ोसियों की गप्पे करने लग जाती है और अगर लड़की मना कर दे तो वह उसे रूड (Rude) समझ लेती है, जबकि ऐसा नहीं होता।

घर के बाकी सदस्यों की तरह लड़कियों को भी हक है कि ऑफिस से आने के बाद वह कुछ देर अकेले रहें। ऐसे में आपको बस उन्हें कुछ देर अकेला छोड़ने की जरूरत होती है।

बेटे-बहू को लेकर न करें गुस्सा

अक्सर सास को लगता है कि शादी के बाद बेटा मां का नहीं रहा, जिसके कारण वह उनके रिश्ते में इंटरफेयर करने लग जाती है।

मगर सास को यह बात समझनी चाहिए कि मां की जगह कोई नहीं ले सकता। शादी के बाद भी बेटा अपनी मां से पहले की तरह ही प्यार करेगा।

1
Back to top button