सैफुद्दीन के बिगड़े बोल-नेहरू के चलते बचा-कश्मीर

-कहा-पटेल ने हैदराबाद के बदले पाकिस्तान को देने की थी पेशकश

नई दिल्ली:

पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सैफुद्दीन सोज अपने आजादी वाले बयान पर अडिग है। किताब को लेकर खड़े हुए विवाद पर सोज ने कहा कि ‘सरदार पटेल ने हैदराबाद के बदले पाकिस्तान को कश्मीर की पेशकश की थी, लेकिन नेहरू को कश्मीर से विशेष लगाव था इसलिए कश्मीर बचा। इसका सबूत है।

बता दें कि शुक्रवार को सैफुद्दीन सोज ने कहा कि कश्मीरियों की प्राथमिकता पाकिस्तान में विलय की नहीं है। पहली प्राथमिकता आजादी है। कश्मीरी आजादी की लड़ाई लड़ रहे हैं। सोज मानते हैं कि ये बातें पहले भी उतनी सच थी जितनी की आज सच है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया है कि मैं यह भी जानता हूं कि ऐसा हो पाना संभव नहीं है।

मुशर्रफ और आजाद के बयान का किया था समर्थन

सोज परवेज मुशर्रफ के आजादी वाला बयान को समर्थन करते हुए कहा कि कश्मीरियों की आवाज को कोई नहीं सुनना चाहता। न तो पाकिस्तान और न ही भारत। कश्मीरियों की आंदोलन की सबसे पहला ध्येय आजादी है न कि विकास या कुछ और। इसी तरह का बयान इससे पहले नेशनल काफ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला भी दे चुके हैं।

हालांकि उन्होंने सीधे तौर पर ये बातें न बोलकर अप्रत्यक्ष रूप से इस बात को रखा था। सोज ने राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद के कश्मीर में सेना की कार्रवाई में आम नागरिक के मारे जाने वाले बयान का भी समर्थन किया।

-रणदीप सिंह सुरजेवाला को किताब पढ़ने की नसीहत

सैफुद्दीन सोज कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला के कश्मीर के अभिन्न हिस्सा वाले बयान पर भी तंज कसते हुए अपनी किताब पढ़ने की नसीहत दी। सोज ने कहा कि सुरजेवाला को पहले ये किताब पढ़नी चाहिए फिर सवाल खड़े करने चाहिए।

Back to top button