राज्य

साईको शंकर ने ब्लेड से रेता अपना गला, 30 रेप और 15 हत्याओं का था दोषी

शंकर महिलाओं को अकेला पाकर उनका रेप करता था और बाद में उनकी हत्या

30 से ज्यादा रेप और 15 हत्याओं के दोषी शंकर ने आज ब्लेड के गला रेतकर अपनी जान दे दी. कन्नड़ फिल्म ‘साइको शंकर’ उसकी ज़िन्दगी पर ही आधारित थी. रात करीब 2:15 को शंकर को खून से सना हुआ देखकर दूसरे कैदियों ने इसकी सूचना जेल के अधिकारियों को दी. उसे बेंगलुरु के विक्टोरिया अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. जेल प्रशासन ने उसकी मौत के मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं.

शंकर महिलाओं को अकेला पाकर उनका रेप करता था और बाद में उनकी हत्या. वह पुलिस की नजर में तब आया था जब 23 अगस्त 2009 को उसने एक कॉन्स्टेबल एम जयमणि का रेप कर हत्या कर दी थी. तब रेकॉर्ड्स खंगालने पर पता चला कि वह लगभग 13 रेप और हत्या की घटनाओं को अंजाम दे चुका था.

18 मार्च, 2011 को उसे धर्मपुरी फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेशी के बाद वापस लाया जा रहा था जब वह पुलिस की पकड़ से भाग निकला. जेल में रहने के दौरान एक बार वह दीवार फांदकर भाग चुका था। उसे 5 सितंबर 2013 को दोबारा गिरफ्तार किया गया था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.