सामाजिक बहिष्कार कानून का आदिवासी समाज करेगी विरोध

रायपुर : सामाजिक बहिष्कार को लेकर सरकार एक कानून लाने में जुटी है लेकिन इस कानून के आने से पहले ही इसका विरोध शुरू हो गया है. आदिवासी समाज ने सरकार के इस कानून का विरोध करने का मन बना लिया है. सर्व आदिवासी समाज के उपाध्यक्ष बी.पी.एस नेताम की माने तो सामाजिक बैठकों में जाना किसी तरह से गलत नही है साथ ही आदिवासी समाज की अपनी परम्परा है जिसके तहत लोगों का सामाजिक बहिष्कार किया जाता है. नेताम की माने तो आदिवासी समाज को सामाजिक बहिष्कार कानून से दूर रखा जाए या फिर उसमे कुछ छुट दी जाए. बी.पी.एस नेताम ने साफ कहा है की अगर उनके ऊपर इस कानून को थोपा जाएगा तो समाज आन्दोलन करेगी. आपकों बता दें की सामाजिक बहिष्कार को सरकार ने गंभीरता से लेते हुए सामाजिक बहिष्कार करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए कानून बनाने की तैयारी में है.

Back to top button