राष्ट्रीय

NEET-JEE परीक्षा को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, पुलिस ने हिरासत में लिया

परीक्षा को लेकर समूचा विपक्ष केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावार है।

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) काल में NEET-JEE परीक्षा आयोजित कराए जाने को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। अब इस विवाद ने राजनीतिक रूप ले लिया है। परीक्षा को लेकर समूचा विपक्ष केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावार है। इसी बीच आज समाजवादी पार्टी (SP) के कार्यकर्ताओं ने नीट और जेईई की परीक्षा को लेकर राजभवन के पास प्रदर्शन किया। जिसपर पुलिस ने एक्शन लेते हुए लाठीचार्ज किया और प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया।

‘जान के बदले एग्जाम’

वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने परीक्षा कराए जाने को लेकर विरोध किया है। उन्होंने गुरुवार को परीक्षार्थियों और अभिभावकों के समर्थन में तथा परीक्षाओं व भाजपा के खिलाफ खुला पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने लिखा है ‘जान के बदले एग्जाम, नहीं चलेगा-नहीं चलेगा!!!”

गरीब-ग्रामीण के खिलाफ BJP का षड्यंत्र

इससे पहले बुधवार को सपा अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा था कि नीट, जेईई व अन्य परीक्षाएं रोकने के लिए हृदयहीन सरकार एक बार माता-पिता के दिल से सोचे। कोरोना व बाढ़ में केवल शहरी व अमीर ही केंद्रों तक पहुंचने व परीक्षा देने में समर्थ हैं। ये पैसोंवालों की भाजपा सरकार का गरीब-ग्रामीण के खिलाफ षड्यंत्र है।

सितंबर में होंगी परीक्षाएं

गौरतलब है कि शिक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मेन) और राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-यूजी) तय कार्यक्रम के अनुसार सितंबर में ही आयोजित की जाएंगी। बता दें कि जेईई (मेन) परीक्षा 1 से 6 सितंबर जबकि जेईई (एडवांस) परीक्षा 27 सितंबर को आयोजित की जानी है। नीट की परीक्षा 13 सितंबर को आयोजित की जाएगी। जेईई परीक्षा देश के प्रमुख इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है जबकि नीट का आयोजन मेडिकल में स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए किया जाता है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button