समझौता एक्सप्रेस धमाका: पंचकूला की स्पेशल एनआईए कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

आज से करीब 12 साल पहले हुआ था समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में IED ब्लास्ट

नई दिल्ली: पंचकूला की स्पेशल एनआईए कोर्ट समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में हुए धमाके के मामले में आज 14 मार्च को अपना फैसला सुनाएगा। पिछले बुधवार को एनआईए कोर्ट में सुनवाई हुई थी और कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। आज से करीब 12 साल पहले दिल्ली से लाहौर के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन में IED ब्लास्ट किया गया था।

वह दिन था 18 फरवरी 2017। हरियाणा के पानीपत में ट्रेन में ब्लास्ट हुआ. हादसे में 43 पाकिस्तानी, 10 भारतीय नागरिक और 15 अन्य लोग मारे गए थे. मारे गए कुल 68 में से 64 आम लोग थे, जबकि 4 रेलवे के अधिकारी। ब्लास्ट के बाद कई अन्य कोच में आग लग गई थी। शुरुआत में हरियाणा पुलिस ने मामले की जांच की, लेकिन जुलाई 2010 को जांच एनआईए को सौंप दिया गया।

समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में पहली चार्जशीट 2011 में फाइल की गई। इसके बाद 2012 और 2013 में भी सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की गई।

ट्रेन रात के 10.50 बजे दिल्ली से रवाना हुई थी. इसमें 16 कोच थे. ब्लास्ट 2 अनारक्षित कोच में किया गया था। 4 आईईडी प्लांट किए गए थे, जिनमें 2 ब्लास्ट हुए और 2 को बाद में बरामद किया गया। केस में आठ लोग आरोपी थे, लेकिन चार लोगों ने ही ट्रायल का सामना किया।

केस में स्वामी असीमानंद को मुख्य आरोपी बनाया गया था जिन्हें पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने 2015 में जमानत दे दी थी। अन्य तीन आरोपी अंबाला की जेल में कैद हैं। केस में 299 गवाह थे। लेकिन मई 2018 में स्पेशल जज ने ट्रायल के धीमा चलने और एक या दो गवाह को ही पेश किए जाने को लेकर नाराजगी जाहिर की थी।

Back to top button