बालू का अवैध तरीके से ओवरलोड पर नहीं लग पा रहा अंकुश

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा संवाददाता : अखिलेश साहू

सूरजपुर: सूरजपुर जिले से भैसा मुंडा क्षेत्र में महान नदी से रेत का उत्खनन जोरों पर है मिली जानकारी के अनुसार वहां लिज तो अवश्य मिला है ठेकेदार को परंतु ओवरलोड का तो लीज उन्हें नहीं दिया गया।

सैकड़ों ट्रक ओवरलोड होकर और अंतर राज्य उत्तर प्रदेश की ओर जाती हैं रास्ते में आर टीओ धनवार पड़ता है ।सभी गाड़ियां लगभग ओवरलोड होती हैं परंतु आज पर्यंत आरटीओ के अधिकारी इस ओवरलोड गाड़ियों पर अंकुश लगाने हेतु किसी प्रकार का कोई पहल नहीं किए।

इन सब चीजों को देखते हुए छत्तीसगढ़ का सड़क जो नेशनल हाईवे कहा जाता है उसकी स्थिति काफी जर्जर हो चुकी है जहां तक की उस पर चलना लोगों को मुश्किल पड़ रहा है। परंतु प्रशासन नींद में सोया है समय रहते यदि ओवरलोड गाड़ियों पर अंकुश नहीं लगा तो पूरा सड़क भैंसा मुंडा से धनवार आर टी ओ तक जर्जर में तब्दील हो जाएगा।

एक तरफ छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार रेत उत्खनन को लेकर बड़ी-बड़ी बातें करती है। वहीं एक तरफ ठेकेदारों की मनमानी कहीं ना कहीं देखने को मिल रही है। गाड़ियों में नापतोल से अधिक रेत ले जाना अपराधिक प्रकार बनता है जबकि रोजाना सैकड़ों गाड़ियां निकल रही हैं वह भी सभी ओवरलोड परंतु कार्यवाही शून्य के बराबर इससे यह प्रतीत होता है कि आर टी ओ के सभी अधिकारी के मिलीभगत से कार्य किया जा रहा है।

साथ ही साथ प्रशासन की मौन को देखते हुए यह लगता है कि प्रशासन भी इस रेत उत्खनन ओवरलोड में संलिप्त नजर आ रहा ।अब देखने वाली बात होगी कि कब तक प्रशासन रेत के ओवरलोड गाड़ियों पर अंकुश लगाने में सफलता पाती है इसी तरह से अंधेर नगरी चौपट राजा चलता रहेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button