बोराई नदी का सीना छन्नी कर रहें हैं रेत माफिया

देवेंद्र रात्रे

जांजगीर। ग्राम पंचायत भडोरा रिवाडीह बोराई नदी में रेत का अवैध कारोबार करने वाले चन्द्रा माफियों द्वारा अब तक शासन प्रशासन को करोड़ों का चूना लगा चुके है, मगर फिर भी शासन मौन है। आपको बता दें जब से ग्राम पंचायत भडोरा के वर्तमान सरपंच कुमारी बाई चन्द्रा बना है तब से ग्राम भडोरा में माफियों का राज चल रहा है।

इसका जीता जागता सबूत यह है कि ग्राम भडोरा से लगे बोराई नदी का रेत सरपंच पति सहित देवर अशोक चन्द्रा,हुलेश चन्द्रा,श्याम सुंदर चन्द्रा,पिंटू चंद्रओ द्वारा,हर रोज सुबह से शाम तक बोराई नदी से रेत ट्र्रैक्टर से लोडिंग करके बेचा जाता है।

आपको बता दें यह लोग एक फर्जी समिति चंद्रहासनी सेवा समिति के माध्यम से हरके ट्रैक्टर से 100, 200 रुपए तक वसूलते है। खास बात यह है कि यहाँ की गरीब ग्रामीण लोग ट्रैक्टर की भराई करते है। इसी वजह से यहां की ग्रामीण जनता इसकी शिकायत तक नही कर रही है।

शासन प्रशासन को कोई सुध नहीं है। ऐसा लगता है मानों अधिकारियों की मिलीभगत से ऐसा हो रहा है तभी तो अब तक कोई कार्यवाही नहीं हो रहा है।

बोराई पुल के ऊपर से लगभग 200 मीटर तक का और नीचे 400 मीटर तक के रेत को बेचकर खा चुके हैं। इन माफियों के बारे में पत्रकारों द्वारा जनपद पंचायत सीईओ मालखरौदा से फोन से अवगत करवाया तो सीईओ साहब द्वारा मीटिंग का हवाला देकर फोन काट दिया गया।

Back to top button