हार के भय से कार्यकर्ताओं पर अधिकारियों को लाद रही भाजपा – संजीव अग्रवाल

रायपुर : जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रवक्ता और मीडिया समन्वयक संजीव अग्रवाल ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा है कि एक तरफ मौसम ने अमित शाह की रैली को खराब कर दिया है और दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी में चेहरों का अकाल पड़ गया है। क्योंकि 15 साल में अगर इन्होंने छत्तीसगढ़ में विकास किया होता तो इन्हें विधानसभा चुनाव के पूर्व अधिकारियों को पार्टी में शामिल करने की जरूरत नहीं पड़ती।

संजीव अग्रवाल ने कहा कि कुछ महीने पहले मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आर एस एस के सर्वे में यह बताया गया था कि भारतीय जनता पार्टी के छत्तीसगढ़ में 26 विधायक और 8 मंत्री हार रहे हैं अगर उन्हें आगामी विधानसभा में टिकट दी जाती है तो। इसका मतलब साफ है की भाजपा के विधायक और मंत्री दागी हो चुके हैं और जनता तो दूर भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व को ही अपने इन विधायकों और मंत्रियों पर भरोसा नहीं रहा और यही कारण है कि ये लोग पिछले कुछ दिनों से अधिकारियों को अपने पार्टी में शामिल करते जा रहे हैं ताकि उन्हें आगामी विधानसभा चुनाव में उन्हे टिकट दी जा सके और एक बार पूरा जनता को मूर्ख बनाया जा सके जो कि वो 15 साल से कर रहे हैं।

आगे संजीव में कहा कि अधिकारियों की पैराशूट लैंडिंग करवाकर भारतीय जनता पार्टी अपने कार्यकर्ताओं पर इन अधिकारियों को थोप रही है। दूसरे रूप से पार्टी का अधिकारीकरण कर रही है जिससे साफ है कि पिछले 15 सालों में पार्टी पूरी तरह से टूट चुकी है और इस वर्ष अपनी हार के डर से नए-नए प्रयोग कर रही है। भारतीय जनता पार्टी को अपने कार्यकर्ताओं, नेताओं और विधायकों पर अब विश्वास नहीं रहा और इसीलिए रिटायर्ड अधिकारियों और कुछ लोगों को तो जबरन इस्तीफ़े दिला कर पार्टी में शामिल किया जा रहा है और कार्यकर्ताओं पर थोपा जा रहा है ताकि चुनाव में अपने आप को बेदाग और साफ-सुथरे छवि का प्रस्तुत किया जा सके।

अंत में संजीव ने कहा कि कल हुए जोगी कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन से छत्तीसगढ़ की दोनों राजनीतिक पार्टियाँ हिल गई है इसीलिए उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि अब जोगी के विजय रथ को रोकने के लिए क्या उपाय लगाया जाए। इसीलिए आनन-फानन में जो सूझता है वह करते जा रहे हैं लेकिन जनता समझ चुकी है और आने वाले विधानसभा चुनाव में अजीत जोगी और बहन मायावती की बहुजन समाज पार्टी को संपूर्ण बहुमत दिला कर प्रदेश में अजीत जोगी के नेतृत्व में एक सुशासन की सरकार लाने के लिए अपना मन बना चुकी है।

Back to top button