हाईकोर्ट से संजीवनी-महतारी के चालकों ने मांगी इच्छामृत्यु

वेतनवृद्धि एवं काम के घंटे तय करने समेत अन्य मांगों के पूरे न होने पर संजीवनी और महतारी एंबुलेंस के चालकों ने हाईकोर्ट में इच्छामृत्यु की मांग की है।

बिलासपुर/रायपुर: वेतनवृद्धि एवं काम के घंटे तय करने समेत अन्य मांगों के पूरे न होने पर संजीवनी और महतारी एंबुलेंस के चालकों ने हाईकोर्ट में इच्छामृत्यु की मांग की है। बता दें कि 5 अप्रैल से छत्तीसगढ़ संजीवनी 108 एवं महतारी 102 कर्मचारी कल्याण संघ अनिश्चितकालीन हड़ताल है।

संघ नेताओं ने बताया कि उनसे श्रम अधिनियम के विपरीत काम लिया जा रहा है। इसके विरोध में साल भर पहले से आंदोलन किया जा रहा है। इसके बाद भी मांगे पूरी नहीं हो रही है। संघ के अध्यक्ष राजेंद्र राठौर ने बताया कि ठेका कंपनी जीवीके व विभागीय अधिकारियों से समाधन को लेकर कई चरण पर चर्चा हो चुकी है। हर बार सकारात्मक आश्वासन ही दिया जाता है। इधर सरकार ने हड़ताल पर गए संजीवनी कर्मचारियों को अल्टीमेटम दिया है, यदि वे हड़ताल पर वापस नहीं लौटे तो उनकी नियुक्ति रद्द कर नई भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

1
Back to top button