क्राइमछत्तीसगढ़

सरकंडा पुलिस को मिली सफलता,देर रात लूट की वारदात को अंजाम देने वाला गिरोह हुआ गिरफ्तार

चोरी व लूटपाट के सामान भी बरामद

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा
संवाददाता : मनीषा त्रिपाठी

बिलासपुर : बीते कुछ दिनों से शहर व आस पास के क्षेत्र में बढ़ रही लूट की वारदातों को देखते हुए पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर लगातार थाना प्रभारियों द्वारा टीम गठित कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए खोजबीन जारी है,वही एक बार फिर तीन वारदातो को अंजाम देने वाले आरोपियों को पकड़ने में सरकंडा पुलिस को सफलता मिली है,जिनके पास से चोरी व लूटपाट के सामान भी बरामद हुए है।

अज्ञात व्यक्तियों द्वारा पत्थरबाजी

बतादे की मामले का खुलासा करते हुए डीएसपी निमिषा पांडेय व थाना प्रभारी जयप्रकाश गुप्ता ने बताया कि कुछ समय पूर्व प्रार्थी ने थाना पहुंच रिपोर्ट दर्ज कराया था की रात्रि करीब 1:20 बजे उनके पिता रेलवे स्टेशन पर ड्यूटी से वापस अपनी मोटरसाइकिल क्रमांक सीजी 10 एच 59706 घर आ रहे थे,इसी दौरान शनि मंदिर के पास मोपका तिराहा के पास कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा पत्थरबाजी किया गया जिसे उसके पिता अशोक कुमार घोष को सिर में चोट आई चोट लगने पर मौके पर ही बेहोश हो गए उसके बाद अज्ञात आरोपियों द्वारा मोटरसाइकिल मोबाइल एवं अन्य सामान को लूट कर ले गए की रिपोर्ट पर थाना में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।सरकंडा पुलिस को मिली सफलता,देर रात लूट की वारदात को अंजाम देने वाला गिरोह हुआ गिरफ्तार

जिसके बाद से आरोपियों केी धरपकड़ हेतु सरकण्डा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता के द्वारा टीम गठित कर आरोपियों को लगातार तलाश किया जा रहा था, इसी दौरान मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई शनी मरकाम नामक आरोपी उक्त लूटी हुई बाइक में घूमते हुए नजर आया है, जिसके बाद उसे घेराबंदी कर गिरफ्तार किया गया पूछताछ पर उसने बताया कि उसने अपने तीन अन्य साथी पितांबर रजक,कृष्णा निपात,नानू उर्फ ओमप्रकाश सूर्यवंशी के साथ मिलकर इन वारदातों को अंजाम देना बताया।

पूछताछ में इसके अलावा उन्होंने थाना तोरवा क्षेत्र अंतर्गत दो घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया,उक्त सभी आरोपियों से अलग अलग प्रकरण मे लूट तथा चोरी किये गए मोटर सायकल तथा सामग्रियों को जप्त किया गया तथा आरोपियों को सरकण्डा के 01 तथा तोरवा 02 मामलो मे गिरफ्तार किया गया तथा सभी आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर भेजा गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button