सारंगढ़: हर रोज कराते है यहां के प्रिंसिपल छात्रों से मजदूरी,एसडीएम ने कहा होगी कार्रवाई

सारंगढ़ जनपद क्षेत्र में सरकारी स्कूल के छात्रों के हाथों में जिस उम्र में कॉपी पेन होना चाहिए, उन हाथों में मजदूरी का सामान पकड़ा दिया गया है।

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़
दीपक पटेल सवांददाता/ दिनांक 30.09.2021
सारंगढ़ : सारंगढ़ जनपद क्षेत्र में सरकारी स्कूल के छात्रों के हाथों में जिस उम्र में कॉपी पेन होना चाहिए, उन हाथों में मजदूरी का सामान पकड़ा दिया गया है। छात्रों को स्कूल में पढ़ाने की बजाय सरकार से मोटी रकम पाने वाले अध्यापक अब छात्रों से मध्यान भोजन की सामग्री लाने का काम करा रहे हैं।

छात्रों से राशन की दुकान से मध्यान भोजन के लिए आलू चावल जैसे सामग्री साईकिल में लदवा रहे हैं। इतना ही नहीं मासूम छात्र अध्यापक के डर से यह काम कर रहे हैं। मामला सामने आने के बाद सारंगढ़ एसडीएम नन्दकुमार चौबे ने बीईओ को जांच के आदेश देते हुए दोषी पाए जाने पर अध्यापक के खिलाफ उचित कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

सीएम शिक्षा को लेकर सख्त

छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल को सीएम बनने के बाद सीएम शिक्षा को लेकर सख्त है। जिससे बच्चे पढ़े और आगे बढ़े लेकिन अधिकारी सीएम के सपने को कैसे पलीता लगाते नजर आ रहे हैं वीडियो में साफ देखा जा सकता है। यहां सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों से मजदूरी कराई जा रही है। जिन बच्चों के हाथ में स्कूल की किताबें होनी चाहिए। उन बच्चों के हाथों में मध्यान भोजन का काम थमाया जा रहा है ।

वहीं ग्राम पंचायत सालर के शासकीय उच्चतर प्राथमिक शाला के बच्चों का यह वीडियो अब वायरल हो गया है। बता दें कि भूपेश सरकार शिक्षा को लेकर काफी सख्त है ताकि बच्चे पढ़े और बढ़े लेकिन टीचर है कि बच्चों का भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। जब सारंगढ़ के एसडीएम से इस मामले पर बात की तो उनका कहना है कि ऐसा करना गलत है। जिसे संज्ञान में लेकर विधिवत कार्रवाई किया जाएगा और अगर बच्चों से लेवर टाइप का काम कराया जा रहा है तो टीचर पर सख्त कार्रवाई की जाएगी और उन्हें निलंबित भी किया जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button