छत्तीसगढ़

सरोज पांडेय: बेटियों के लिए जीवन ज्‍यादा संघर्षमय है

भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय ने कहीबेटियों के लिए जीवन ज्‍यादा संघर्षमय है, ऐसा मेरा मानना है. बेटियां उस संघर्ष में जीतें और नई ऊंचाइयां छुएं, मेरी यही शुभकामनाएं हैं.

अंतरराष्‍ट्रीय बालिका दिवस पर आयोजित ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम में शामिल होने के लिए एक दिवसीय प्रवास पर वे और राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय बुधवार को जांजगीर पहुंची थीं. दोनों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया.

कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए सरोज पांडेय ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में पहली बार ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना की शुरुआत की है. बेटियों को बचाने के साथ-साथ उन्हें पढ़ाने और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए बहुत सारी योजनाएं शुरू की गई हैं.

इसके लिए मैं प्रधानमंत्रीजी को साधुवाद देती हूं. उन्हें देश की बेटियों की चिंता है कि बेटियां आगे बढ़ें, इस बात के लिए हम सब को कोशिश करना चाहिए. सरोज पांडेय ने कहा कि बेटियों के लिए जीवन बहुत संघर्षमय है, ऐसा मेरा मानना है. बेटियां उस संघर्ष में जीतें और नई ऊंचाइयां छुएं, मेरी यही शुभकामनाएं हैं.

नाबालिग बालिकाओं के विवाह को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले का स्वागत करते हुए राज्‍य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में बाल विवाह कानूनी जुर्म है. ऐसे में गैर कानूनी विवाह में शारीरिक संबंध बनाना गंभीर अपराध की श्रेणी में आना चाहिए.

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर आया यह फैसला नींव का पत्थर साबित होगा. उन्‍होंने कहा कि हम बाल विवाह को रोक तो रहे हैं, लेकिन नाबालिग से शारीरिक संबंध को रोकने के फैसले से संबल मिलेगा.

Summary
Review Date
Reviewed Item
सरोज पांडेय
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *