छत्तीसगढ़

सरपंच और कोटवार पर मुक्तिधाम की जमीन को सांठगांठ कर बेचने का आरोप

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा संवाददाता : मनीषा त्रिपाठी

कंचनपुर –जनपद पंचायत कोटा के अंतर्गत ग्राम पंचायत बारीडीह के ग्रामीणों ने सरपंच औऱ कोटवार पर मुक्तिधाम की जमीन को साठगांठ कर बेचने का आरोप लगाया हैं l ग्रामीणों ने इसकी लिखित शिकायत रतनपुर थाने में की हैं l ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत बारीडीह के आश्रित गांव नवापारा के मुक्तिधाम में ग्रामीण 50 से 60 वर्षों से दाह संस्कार करते आ रहे हैं उस मुक्तिधाम की जमीन को गांव के सरपंच कुंज बिहारी नेटी एवं कोटवार जोहन दास के द्वारा अवैध कब्जा करते हुए किसी व्यक्ति को बेच दिया गया गया है ।
जमीन लेने के बाद उनके द्वारा मुक्तिधाम में खंभा गड़ाकर तार फेसिंग भी कर दिया गया है । जिसकी जानकारी गांव के लोगों को होने पर उन्होंने गांव में मीटिंग बुलाई औऱ जमीन मालिक को दस्तावेज दिखाने को कहा गया लेकिन जमीन मालिक जमीन के संबंध में कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाया । इस मामले की जानकारी गांव के लोगों ने पटवारी को दिया गांव में पहुंचकर पटवारी ने ग्रामीणो से पूछताछ में पाया कि करीब 50 से 60 वर्षों से गांव के ग्रामीण इस मुक्तिधाम में दाह संस्कार करते आ रहे हैं लेकिन रिकॉर्ड में मुक्तिधाम दर्ज नहीं है जबकि जमीन मालिक के पास भी जो पट्टा है उसमें यह नहीं दर्शाया गया है कि यह जमीन उसी के पट्टे की है ।

इसलिए इस कब्जे के खिलाफ गांव के ग्रामीण महिलाएं पुरुष सैकड़ों की संख्या में रतनपुर थाने में पहुंचकर सरपंच कोटवार के खिलाफ लिखित शिकायत करते हुए जांच कर कार्रवाई की मांग की है । रतनपुर थाने में दोनों पक्ष की बात सुनने के बाद रतनपुर पुलिस ने दोनों पक्ष को 155 काटकर न्यायालय भेजा गया है इसका निराकरण न्यायालय ही कर सकती है कि आखिर यह जमीन किसकी है ग्रामीणों का कहना है कि यह मुक्तिधाम की जमीन बेशकीमती है जिसे सरपंच और कोटवार ने सांठगांठ कर जमीन को किसी के पास बेच दिया है l
छह लोगों को बयान के लिए बुलाया

इस मामले में जमीन मालिक का कहना है कि यह उसकी जमीन है गांव के लोगों के द्वारा विरोध किया गया तब उसने रतनपुर थाने में पहुंचकर 6 लोगों के खिलाफ लिखित शिकायत दी है । जिन्हे रतनपुर थाने में बयान के लिए बुलाया इसकी जानकारी लगते ही सैकड़ों की संख्या में महिलाएं और पुरुष रतनपुर थाने में पहुंचे हैं l गांव के हरिशंकर, संतोष, जनक राम, शिव शंभू , के साथ दो अन्य लोगों का कहना है कि यह जमीन श्मशान घाट के लिए आवंटित है लेकिन राजस्व रिकार्ड में जिक्र नहीं है बटांकन नहीं कटा है जो कि विवाद का कारण है । जिन्हें पट्टा मिला है वह अपना हिस्सा समझ कर तार फेंसिंग करवाए थे । इनकी जमीन कहां पर है उन्हें मालूम नहीं है खंभा तार को उखाड़ कर फेंक दिया गया है आज बयान कथन हुआ है दस्तावेज पेश करने के लिए बोला गया है जिसके पश्चात ही आगे कार्रवाई की जाएगी ।

ललीत पैकरा रतनपुर थाना — दो आवेदक हैं बलराम प्रसाद दुबे पिता स्वर्गीय लखन दुबे यह जमीन 90 एकड़ का है जिसमें 50 हितग्राही है किसी को 1 एकड़ तो किसी को डेढ़ एकड़ का भूमि आवंटन हुआ है । मां जानकी बाई खसरा नंबर 1/1(क) 43 रकबा 2 एकड़ है । वही रामकुमार सिंह ठाकुर पिता श्याम सिंह ठाकुर रानी बछाली का 1/1 (क) 42 रकबा डेढ़ एकड़ है । इनके द्वारा दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी l

कुंज बिहारी नेटी सरपंच बारीडीह —– यह जमीन मुक्तिधाम का जमीन नहीं है इस जमीन को पट्टे पर रानी बछाली के एक ग्रामीण को दिया गया था जोकि अपनी जमीन पर खंभा फेसिंग तार कर रहा था । उन्होंने गांव के कोटवार के साथ मिलकर किसी को कोई जमीन नहीं बेचा है उनके खिलाफ रतनपुर थाने में झूठी शिकायत गांव के लोगों के द्वारा की गई है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button