फ़िल्मी स्टाइल में सरपंच की गुंडागर्दी, घर का दरवाजा तोड़ महिला के कपड़े फाड़े

रवि सेन:

बागबाहरा: पुराने फिल्मों में दिखाए गए कुछ फिल्मांकन जिसमे गांव के सरपंच ने जो कह दिया वही सही। गांव में पूरी मनमानी सरपंच ही करते है। सरपंच ही गांव का बाहुबली होता है जो जब चाहे किसी को मार दे या गांव से अलग कर दे। ऐसे ही एक मामला ब्लॉक मुख्यालय बागबाहरा से लगभग 17 किमी दूर ग्राम पंचायत कछारडीही के सरपंच एवन साहू है, जिनको किसी भी ग्रामीणों का ना सुनना पसंद नही।

आये दिन ग्रामीणों में दहशत बरकरार रखने किसी किसी भी महिला, बुजुर्ग या बच्चों से मारपीट करते देखा जा सकता है। बीती रात ग्राम कछारडीही में पीताम्बर साहू की पुत्री के शादी में पहुचे सरपंच एवन साहू ने ग्रामीण ओम मलेश्वर साहू से शादी घर मे ही मारपीट कर दी।

मारपीट का सिर्फ यही कारण है कि सरपंच एवन साहू ने ओम मलेश्वर साहू से कहा कि आज कल तेरी बहुत शिकायत मिल रही है तब ओम मलेश्वर साहू ने सरपंच से पूछा कि क्या शिकायत आ रही है तब सरपंच एवन साहू ने कहा कि जुबान लड़ाता है और मारपीट शुरु कर दी ।

किसी तरह लोगो ने वहा पर विवाद को रोका पर सरपंच का गुस्सा नही थमा उन्होंने ओम मलेश्वर साहू के घर का दरवाजा तोड़ कर उनके पिता धनसाय एवम मां रमशिला साहू के साथ मारपीट की साथ ही उस महिला के कपड़े भी फाड़ दिए।

दहशत में ग्रामीण

सरपंच एवन साहू द्वारा लगातार ग्रामीणों से मारपीट करने की घटना आये दिन सामने आती है कुछ माह पूर्व भी एक महिला के साथ मारपीट किये जाने के कारण कोमाखान थाने में सरपंच एवन साहू के खिलाफ मामला दर्ज है लेकिन कोई ठोस कार्यवाही नही होने के कारण ग्रामीण दहशत में है ।

ग्रामीणों का पुलिस से उठा विश्वास

सरपंच एवन साहू के खिलाफ कई मामले मारपीट के है लेकिन किसी भी मामले पर सरपंच के खिलाफ कार्यवाही नही हुई है जिसके चलते सरपंच के हौसले बुलंद होते जा रहे है और उनके द्वारा लगातार ग्रामीणों के साथ मारपीट किया जाता है। कुछ लोगो का यह भी कहना है कि सरपंच का पुलिस के साथ सांठगांठ होने के चलते कार्यवाही नही होती है।

Back to top button