छत्तीसगढ़

सरपंच पति ने छीन लिया प्रधानमंत्री आवास का पैसा, कलेक्टर ने दिये एफआईआर के निर्देश

राजनांदगांव : डोंगरगढ़ ब्लाक के गाजमर्रा गाँव की आवेदिका ने आज ई.जनदर्शन के माध्यम से अपने गाँव के सरपंच पति द्वारा प्रधानमंत्री आवास का पैसा छीन लेने की शिकायत दर्ज कराई। महिला ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास का पैसा जब खाते में आया तब खाते से पैसा निकालने के बाद सरपंच पति ने कहा कि मैं तुम्हारा घर बनाऊंगा। इस पर आवेदिका ने कहा कि हम सोचकर बताएंगे। इतने में सरपंच पति ने पैसे छीन लिए। कलेक्टर ने आवेदिका की शिकायत पर तुरंत एफआईआर कराने के निर्देश अनुविभागीय अधिकारी डोंगरगढ़ को दिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास का पैसा गरीबों के घर बनाने के लिए है, ये उनका हक है, इस तरह की शिकायत आए तो गंभीरता से कड़ी कार्रवाई की जाए। ऐसे मामले में तुरंत एफआईआर के साथ शांतिभंग किये जाने पर की जाने वाली कार्रवाई भी सुनिश्चित करें। इसी तरह कल्याणपुर में अतिक्रमण की शिकायत एक आवेदक ने की, कलेक्टर ने तीन दिन के भीतर संबंधित स्थल से अतिक्रमण हटाने के निर्देश तहसीलदार को दिए। ग्राम काठमारा के एक आवेदक ने सरपंच के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में कार्रवाई किए जाने की बात कही। डोंगरगढ़ में सेवानिवृत्त कृषि विस्तार अधिकारी ने पाँच महीने से परिवार कल्याण निधि की राशि प्राप्त नहीं होने की बात कही। कलेक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारियों को इन्हें त्वरित राहत दिलाने निर्देश दिए।

मोहला ब्लाक में प्राथमिक शाला कतोरा में एक आवेदक ने कहा कि यहाँ की एक शिक्षिका स्वयं अपना समूह बनाकर मध्याह्न भोजन का संचालन करती है। इस पर कलेक्टर ने मोहला एसडीएम को इस बाबत जांच के निर्देश दिए। ग्राम पंचायत फुनेरा के ग्रामीणों ने प्राथमिक शाला में टीचर नहीं होने की बात कही। कलेक्टर ने शिक्षकों की कमी वाले स्कूलों में शीघ्रताशीघ्र शिक्षकों की पदस्थापना के निर्देश डीईओ को दिए। ग्राम पंचायत आमाडुला के ग्रामीणों ने विद्युतीकरण की समस्या के संबंध में अवगत कराया। अंबागढ़ चौकी के पटेली ग्राम के एक आवेदक ने बताया कि उसने दुर्ग राजनांदगांव ग्रामीण बैंक से कर्ज लिया था, ऋण पटा दिया गया है लेकिन इसके बावजूद जमीन बंधक है। कलेक्टर ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई कर आवेदक को राहत देने के निर्देश दिए। अंबागढ़ चौकी में ही एक आवेदक ने ट्राइसिकल की माँग की। कलेक्टर ने सभी सीईओ को कम से कम 10 ट्राइसिकल रखने के निर्देश दिए ताकि दिव्यांगों को मिनटों में ट्राइसिकल उपलब्ध कराया जा सके। एक आवेदक ने हालमकोड़ों बांध का मुआवजा अब तक नहीं मिलने की बात रखी। ग्राम पंचायत केसला, खैरागढ़ में एक आवेदिका ने निस्तारी की समस्या बताई। उन्होंने बताया कि हमारे गाँव में नदी बहती है लेकिन एक भी तालाब नहीं है। गर्मी के दिनों में जब नदी सूख जाती है तो निस्तारी के लिए भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

कलेक्टर ने पूछा कैसे मिली ई-जनदर्शन की जानकारी –
ई-जनदर्शन की लोकप्रियता जिले में तेजी से बढ़ती जा रही है। विशेष रूप से मोहला और मानपुर जैसे दूरस्थ ब्लाक से भी अब लोग ई.जनदर्शन के माध्यम से अपनी बातें रख पा रहे हैं। आज के ई-जनदर्शन कार्यक्रम में मानपुर की आवेदकों ने बताया कि उन्हें सोसायटी से पता चला कि समस्या रखने अब कलेक्टर महोदय के पास राजनांदगांव नहीं जाना पड़ेगा, अब ब्लाक में ही आपकी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। इसके बाद यहाँ आकर राशन कार्ड के संबंध में अपनी समस्या रखी है। हमें बहुत खुशी है कि मिनटों में ही हमारी समस्या का समाधान हो गया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.