छत्तीसगढ़

सर्वधर्म समभाव कार्यक्रम सम्पन्न,सभी धर्मों एंव पंथों के धर्म गुरुओं उपस्थिति रहे

छत्तीसगढ़ शांति सद्भावना मंच के द्वारा भारतीय सामाजिक संस्थान नई दिल्ली एंव आस्था समिति कवर्धा के सहयोग से क्रिसमस के पावन अवसर पर सर्वधर्म समभाव एंव ललित सुरजन जी की स्मृति में सभा का आयोजन किया गया

हिमांशु सिंह ठाकुर:- ब्यूरो रिपोर्ट कवर्धा।

कवर्धा:- छत्तीसगढ़ शांति सद्भावना मंच के द्वारा भारतीय सामाजिक संस्थान नई दिल्ली एंव आस्था समिति कवर्धा के सहयोग से क्रिसमस के पावन अवसर पर सर्वधर्म समभाव एंव ललित सुरजन जी की स्मृति में सभा का आयोजन किया गया

कार्यक्रम का आयोजन 30 दिसंबर को 12 बजे कर्मचारी भवन कवर्धा जिला कबीरधाम छत्तीसगढ़ में किया गया कार्यक्रम के अध्यक्षता पास्कल तिर्की राष्ट्रीय समन्वयक भारतीय सामाजिक संस्थान नई दिल्ली के गरिमामय उपस्थिति में हुआ

सभी धर्मों एंव पंथों के धर्म गुरुओं की उपस्थिति रही

सर्वधर्म समभाव कार्यक्रम में सभी धर्मों एंव पंथों के धर्म गुरुओं की उपस्थिति रही सभी धर्म गुरुओं के द्वारा शांति सद्भाव एंव अपने अपने धर्म में निहित मानवता के विशेषताओं के उपदेश तथा सन्देश दिए जिसमें सद्गुरु गुरुदीप सिंह अरोरा सिख्ख धर्म, पण्डित सुमित भारद्वाज पुजारी महामाया मन्दिर कवर्धा हिन्दू धर्म, महंत लक्ष्मण भट्ट सतनाम पंथ, मौलाना रियाजुद्दीन साहब रियाज कादरी मुस्लिम जमात कवर्धा इस्लाम धर्म, फादर मोजेस विजय प्रसाद शाह ए0 डी0 चर्च कवर्धा क्रिस्चियन धर्म की गरिमामय उपस्थिति रही

कार्यक्रम के वक्ता नीरज मनजीत अध्यक्ष एप्सो, लायंस क्लब कवर्धा अजय चंद्रवंशी साहित्यकार एंव सहायक विकासखंड शिक्षाधिकारी कवर्धा एम0 जाफर खान राज्य समन्वयक शांति सद्भावना अभियान छत्तीसगढ़, दौलत राम कश्यप अध्यक्ष आस्था समिति कवर्धा की गरिमामय उपस्थिति रही कार्यक्रम में राजकीय गीत अरपा पैरी के धार से शुरुआत किया गया कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रगान से समापन किया गया कार्यक्रम में संविधान की प्रस्तावना का वाचन कराया गया।

पास्कल तिर्की ने बताया

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पास्कल तिर्की ने बताया कि शांति सद्भावना अभियान देश के प्रमुख छः राज्यों में कार्य कर रही है जिसमें छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, उड़िसा, राजस्थान, बिहार, झारखंड है बच्चों एंव नागरिकों के साथ शांति सद्भावना मंच का गठन कर अच्छे नागरिक, संवैधानिक मूल्यों एंव मौलिक अधिकारों के लिए कार्य करते हैं मुख्य वक्ता नीरज मनजीत ने कहा कि आज के दौर में युवाओं की भागीदारी महत्वपूर्ण है शांति एंव सद्भावना के लिए दो मुख्य सिद्धान्त अपनाने चाहिए पहली सभी धर्मों का आदर करें और दूसरी सभी लोगों से मानवता को मिलकर आगे बढ़ाना चाहिए इस तरह हम समूचे विश्व में शांति एंव सद्भाव कायम कर सकते हैं

कार्यक्रम का मंच संचालन युवा सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रकांत यादव द्वारा किया गया कार्यक्रम में इतवारी बैगा, रामकुमार सिन्हा, उमाशंकर कश्यप, राजेश गोयल, साधेलाल, राधिका ध्रुर्वे, चित्रारेखा राडेकर, महेश निर्मेलकर, रामलाल पटेल, हितेश कुमार, लक्ष्मी नारायण सोनवानी नंदकिशोर निशा यादव डाकेश कुमार एंव आस्था समिति के कार्यकर्ता पत्राकार ग्रामीण जनों की उपस्थिति रही।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button