बड़ी खबरराष्ट्रीय

राहुल और सोनिया के खिलाफ SC में याचिका, चीन को लेकर लगा है ये आरोप

क्षेत्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों पर विचार

नई दिल्ली :

चीन विवाद केके बीच सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस, सोनिया गांधी और पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ एक याचिका दायर की गई है। एक वकील की ओर से दायर इस याचिका में 2008 में यूपीए सरकार और चीन सरकार के बीच हुए समझौते के संबंध में जानकारी मांगी गई है।इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से मांग की गई है कि वो राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी या सीबीआई से इस मामले की जांच गैरकानूनी रोकथाम अधिनियम, 1967 के तहत कराने के संबंध में आदेश जारी करे।

एनआईए जांच कराने की मांग

राहुल गांधी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने हस्ताक्षर किए थे। इस याचिका में मामले की एनआईए जांच कराने की भी मांग की गई है। सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया कि कांग्रेस पार्टी ने साल 2008 में हुए इस समझौते की बारीकियों से देश को अंधेरे में रखा। राष्ट्रहित से जुड़ी जानकारी भी सार्वजनिक नहीं हुई। यह याचिका गोवा क्रॉनिकल के एडिटर सैवियो रोड्रिगेज ने दाखिल की है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी के खिलाफ यह याचिका उस समय लगाई गई है,

क्षेत्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों पर विचार

जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच तनाव चल रहा है। याचिका में कहा गया है कि यूपीए और कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑफ चाइना के बीच समझौते में दोनों पक्षों के बीच अहम द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दों पर विचार करने पर सहमति बनी है। याचिका में कहा गया है कि कई मीडिया हाउस की ऐसी रिपोर्ट हैं कि 2008 से लेकर 2013 के बीच चीन की ओर से करीब 600 बार घुसपैठ की कोशिश या विवाद का प्रयास हुआ है। उस दौरान यूपीए सरकार सत्‍ता में थी। यह रिकॉर्ड का मामला है कि 2008 में चीन और कांग्रेस के बीच हुआ समझौता पार्टियों के बीच हुआ समझौता था।

हिंसक झड़प में चीन के करीब 40 जवान मारे गए

बता दें कि 15 जून की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के कर्नल संतोष बाबू समेत 20 जवान शहीद हो गए थे इस हिंसक झड़प में चीन के करीब 40 जवान मारे गए हैं। इस मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी भारत-चीन सीमा पर तनाव को लेकर लगातार मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं और सवाल कर रहे हैं। पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक में कहा- न वहां कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है। पीएम मोदी के इस बयान पर कांग्रेस पार्टी ने सवाल उठाया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button