चौकीदार चोर है’ पर SC का राहुल को नोटिस, जानें- कोर्ट में किसने रखा क्या तर्क

नई दिल्ली। राहुल गांधी के खिलाफ चौकीदार वाले बयान के मामले में दाखिल बीजेपी नेता मीनाक्षी लेखी की अवमानना याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी किया है। मीनाक्षी का आरोप है कि राहुल गांधी ने अपने पॉलिटिकल बयान में कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि चौकीदार चोर है। ऐसे में राहुल गांधी ने कोर्ट की अवमानना की है। राहुल गांधी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में कहा गया कि अपने उस बयान पर वह खेद जताते हैं जिसमें कहा था कि कोर्ट ने कहा कि चौकीदार चोर है। लेकिन पॉलिटिकल स्लोगन पर कायम हैं कि चौकीदार चोर है।

मामले की सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता मीनाक्षी लेखी के वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि राहुल गांधी ने माना है कि उनका बयान गलत था। राहुल ने कहा है कि उन्होंने कोर्ट के आदेश को नहीं देखा था और बयान जोश और उल्लास में दे दिया था। राहुल ने इस बयान के लिए जो खेद जताया है वह भी एक लाइन में ब्रैकेट में लिखा गया है।

जो लिप सर्विस (दिखावटी) है। जब सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि चौकीदार कौन है तब मुकुल रोहतगी ने कहा कि राहुल ने अमेठी से लेकर वायनाड तक में कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि चौकीदार चोर है और चौकीदार नरेंद्र मोदी हैं। ये देखा जाना चाहिए कि कैसे एक नैशनल पार्टी के लीडर सुप्रीम कोर्ट के साथ बर्ताव कर रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ अभिषेक मनु सिंघवी राहुल गांधी की तरह से पेश होते हुए दलील दी कि ये कोई सोच नहीं सकता कि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा कहा है। पिछले 18 महीने से राजनीतिक गलियारे में चौकीदार स्लोगन घूम रहा है। हमने इस बात को लेकर खेद व्यक्त किया है कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि चौकीदार चोर है। लेकिन हम पॉलिटिकल स्लोगन पर कायम हैं कि चौकीदार चोर है।

मीनाक्षी लेखी की ओर से पेश मुकुल रोहतगी: राहुल गांधी ने स्वीकार किया है कि उन्होंने गलत बयान दिया था। उन्होंने माना है कि उन्होंने कोर्ट का आदेश नहीं पढ़ा था और बयान जोश में आकर दिया है। राहुल ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि चौकीदार चोर है। राहुल गांधी ने इस बयान पर जो खेद जताया है वह भी ब्रैकेट में लिखकर जताया गया है। ये लिप सर्विस लगती है। एक नैशनल पार्टी के चीफ इस तरह कैसे गैर जिम्मेदार हो सकते हैं।

मुकुल रोहतगी: चौकीदार नरेंद्र मोदी हैं। राहुल गांधी ने अमेठी से लेकर वायना़ड तक में बयान दिया है कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि चौकीदार चोर है। राहुल गांधी ने स्वीकार किया है कि उन्होंने गलत बयान दिया है।

राहुल गांधी के वकील अभिषेक मनु सिंघवी: यह कल्पना से परे है कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा होगा कि चौकीदार चोर है। हम (राहुल गांधी) इस बात के लिए खेद व्यक्त करते हैं कि हमने ये बयान दिया कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि चौकीदार चोर है। लेकिन हम इस पॉलिटिकल स्लोगन पर कायम हैं कि चौकीदार चोर है। हमने सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के हवाले से दिए इस बयान पर खेद जताया है।

चीफ जस्टिस: हम इस मामले में दाखिल याचिका पर राहुल गांधी को नोटिस जारी करते हैं। (अभी तक मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया था और अब नोटिस जारी हुआ है ऐसे में अब मामले की सुनवाई होगी) और मामले की सुनवाई मुख्य रिव्यू पिटिशन के साथ करेंगे। सुनवाई अगले मंगलवार को होगी।(राफेल मामले में रिव्यू पिटिशन पर सुनवाई का फैसला सुप्रीम कोर्ट पहले ही ले चुकी है।

Back to top button