बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने मानसिक विक्षिप्त महिला को पीट-पीटकर मार डाला

इन दिनों देश में अफवाहों का बाजार गर्म है। कोई भी किसी निर्दोष के खिलाफ अफवाह फैला रहा है और उन्मादी भीड़ बिना जाने समझे उसे मौत के घाट उतार दे रही है। ताजा घटना मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले की है जहां एक 25 वर्षीय महिला को बच्चा चोर समझकर भीड़ ने मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि महिला मानसिक रूप से अक्षम थी।

पुलिस ने मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ कर रही है। महिला का शव गुरुवार को बरगढ़ गांव के पास जंगल से बरामद हुआ है। घटना के अगले दिन लोगों ने पुलिस को सूचित किया। जिसके बाद पुलिस ने छानबीन शुरू की।

सिंगरौली के एसपी रियाज इकबाल ने बताया कि महिला उम्र 25 से 30 साल के बीच है अनुमानित की गई है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त थी और उसे कई बार गांव के आस-पास घूमते हुए देखा गया था। पुलिस के अनुसार, गुरुवार की रात भोष गांव के कुछ लोग उसका पीछा करते देखे गए और बाद में उन्होंने महिला को पीटना शुरू कर दिया था।

भीड़ में शामिल लोगों में कटिहार गांव के हीरा सिंह गोंड भी था जिसने महिला पर कुल्हाड़ी से हमला किया, जबकि गोपाल सिंह, दुर्गा सिंह और देवल सिंह समेत अन्य लोगों ने उस पर लाठियों से हमला किया। महिला ने एक बार जान बचाकर भागने की कोशिश की, लेकिन लोगों ने उसे फिर घेर लिया और पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दिया।

इसके बाद आरोपियों ने उसके शव को घसीटकर जंगल की ओर फेंक दिया। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 302 समेत कई धाराओं में मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि पिछले कई महीनों से संगरौली जिले में वॉट्सएप के जरिए बच्चा आने की अफवाह फैल रही है।

Back to top button