राष्ट्रीय

UPPSC की मुख्य परीक्षा पर रोक से SC ने किया इनकार

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमिशन (यूपीपीएससी) की मुख्य परीक्षा पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। मुख्य परीक्षा 18 जून को तय है। इसके साथ ही इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस आदेश को खारिज कर दिया गया है जिसमें प्रारंभिक परीक्षा की आंसर शीट दोबारा जांचे जाने को कहा गया था।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस यू यू ललित और जस्टिस दीपक गुप्ता की वेकेशन बेंच ने यूपीपीएससी की अपील को स्वीकार करते हुए स्टूडेंट्स की अपील खारिज कर दी। यूपीपीएससी ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी। स्टूडेंट्स की दलील थी कि यूपीपीएससी ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश का पालन नहीं किया है लिहाजा मुख्य परीक्षा पर रोक लगाई जाए। सुप्रीम कोर्ट ने स्टूडेंट्स की ओर से अर्जी खारिज कर दी।

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कहा था कि अगर अदालतें प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित करवाने वाले अथॉरिटी के फैसलों में जूडिशियल रिव्यू के अपने अधिकार का इस्तेमाल कर दखल देती है तो इससे परीक्षा की शुचिता खत्म हो जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था। इस मामले में आवेदक स्टूडेंट्स ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और मुख्य परीक्षा पर रोक की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट में स्टूडेंट्स की ओर से कहा गया था कि प्रारंभिक परीक्षा में सवालों के विकल्प सही नहीं थे। इस मामले में मुख्य परीक्षा पर रोक लगाई जानी चाहिए।

दरअसल, इस मामले में आवेदक स्टूडेंट्स ने पहले यूपीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा में विकल्प में गलती के आधार पर इलाहाबाद हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उत्तर पुस्तिका को दोबारा जांचने का आदेश दिया था। इस आदेश के बाद लोक सेवा आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.