एससी-एसटी एक्ट का विरोध हुआ तेज, काले झंडे दिखाने का प्रयास

जिला प्रशासन ने मंत्री के बंगले की सुरक्षा बढ़ा दी है

इंदौर : मध्य प्रदेश में एससी-एसटी एक्ट का विरोध तेज होने के दौरान प्रदेश के कई जगह नेताओं को लोगों ने काले झंडे दिखाने का प्रयास किया।

भिंड और मुरैना की घटना के बाद कैबिनेट मंत्री माया सिंह को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया गया। पुलिस ने कांग्रेस की पूर्व पार्षद के बेटे अमित दुबे को पकड़ा और बाद में छोड़ दिया।

वहीं मुरैना में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत को काले झंडे दिखाने जुटे सवर्ण समाज के युवाओं से पुलिस की झड़प हो गई। हालांकि बाद में रावत मुरैना आए ही नहीं।

इधर सवर्ण समाज ने आगामी दिनों में आंदोलनों की घोषणा भी कर दी है। चार सितंबर को ग्वालियर में स्वाभिमान सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। छह सितंबर को स्वैच्छिक बंद का आह्वान भी किया गया है।

मंत्रियों के बंगले की सुरक्षा बढ़ाई

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए जिला प्रशासन ने मंत्री जयभान सिंह पवैया, माया सिंह व केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बंगले की सुरक्षा बढ़ा दी है और अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

एएसपी शैलेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि सभी मंत्रियों के निवास पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। अगर पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सुरक्षा मांगते हैं तो उन्हें भी सुरक्षा प्रदान की जाएगी।

Tags
Back to top button