राष्ट्रीय

Sc St Act : संशोधन के लिए मामला एक बार फिर पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

याचिकाओं पर केंद्र से मांगा जवाब

नई दिल्ली।

Sc St Act : एससी-एसटी कानून में तत्काल एफआईआर और तुरंत गिरफ्तारी बहाल करने वाले

संशोधित कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एक और याचिका दाखिल की गई है।

Sc St Act संशोधन के नए कानून 2018 को लेकर वकील पृथ्वीराज चौहान वर्सेज
यूनियन ऑफ इंडिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी जिसे सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए लिस्टेड कर दिया गया है।

इसकी सुनवाई आज कोर्ट नंबर पांच में होगी। Sc St Act मामले में सुप्रीम कोर्ट भी सख्त रवैया अपनाते हुए
Sc St Act में नए संशोधनों को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर केंद्र सरकार से भी जवाब मांगा है।

याचिकाकर्ता पृथ्वी राज चौहान की ओर से पूर्व सॉलिसिटर जनरल मोहन पराशरन और वरिष्ठ वकील बलबीर सिंह अपना पक्ष रखेंगे।
ब्रीफिंग काउंसिल निशांत गौतम ने बताया कि मौजूदा संशोधित कानून संविधान की मूल संरचना के खिलाफ है
साथ ही यह अनुच्छेद 14 और 21 का सीधे तौर पर उल्लंघन कर रहा है।


ताज़ा हिंदी खबरों के साथ अपने आप को अपडेट रखिये, और हमसे जुड़िये फेसबुक और ट्विटर के ज़रिये

Summary
Review Date
Reviewed Item
Sc St Act : संशोधन के लिए मामला एक बार फिर पहुंचा सुप्रीम कोर्ट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt