छत्तीसगढ़

स्कूल, कॉलेज के विद्यार्थियों ने स्टॉल में जाकर ली खनिजों के बारे में जानकारी

जिज्ञासा और कौतूहल का केन्द्र बना खनिज साधन विभाग का स्टॉल

रायपुर: राजधानी रायपुर स्थित साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्योत्सव में खनिज गतिविधियों एवं योजनाओं की महत्वपूर्ण उपलब्धियों की जानकारी जनसामान्य के लिए प्रदर्शित की गई है।

खनिज साधन विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों में पारदर्शिता एवं प्रक्रिया के सरलीकरण के उद्देश्य से विभाग द्वारा वेब बेस्ड ‘खनिज ऑनलाईन पोर्टल का भी प्रदर्शन किया जा रहा है।

पोर्टल के तहत प्रदेश में एसईसीएल, एनएमडीसी, बीएसपी, बाल्को, हिंडालको सहित अनेक सीमेंट संयंत्रों एवं क्रशर, वॉशरी संचालकों द्वारा सफलतापूर्वक खनिज आधारित व्यवसाय का संपादन किया जा रहा है।

स्कूल, कॉलेज के विद्यार्थी और युवा यहां प्रदर्शित डोलोमाइट, ग्रेफाइट, बॉक्साइट, बेन्डेट हेमेटाइट क्वार्टजाइट, गेलेना जैसे अनेक बहुमूल्य खनिज पदार्थों को देखने का अवसर मिल रहा है तथा इन खनिजों के बारे में दिलचस्पी के साथ जानकारी भी ले रहे हैं।

व्यवसायियों, संस्थानों का कार्य व्यवस्थित एवं सरलीकृत

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि पोर्टल के तहत प्रथम फेज में मुख्य खनिज तथा कोयला, लौहअयस्क, बॉक्साईट, चूनापत्थर खानों में सिंगल पॉइंट पेमेंट, ऑनलाईन आवेदन, ई-परमिट, ई-ट्रांजिट पास, खनिज वाहनों का ई-पंजीयन इत्यादि सुविधाओं से जहां एक ओर इस कार्य में संलग्न व्यवसायियों, संस्थानों का कार्य व्यवस्थित एवं सरलीकृत हो गया है।

वहीं वर्ष में विभाग को भी खानों के रेगुलेशन में भी सुविधा हुई है। खनिज ऑनलाईन पोर्टल में माह अक्टूबर 2019 तक कुल 108 लीज होल्डर्स, 159 लायसेंसी, 2520 एण्ड यूजर्स एवं 51 हजार 740 वाहन सफलतापूर्वक पंजीकृत होकर कार्य कर रहे हैं।

पोर्टल से पांच हजार 611 करोड़ रूपए का राजस्व प्राप्त

पोर्टल से पांच हजार 611 करोड़ रूपए का राजस्व प्राप्त हुआ है एवं 31 लाख से अधिक ई-ट्रांजिट पास जारी किया जा चुका है। अधिकारियों ने बताया कि आईटी क्षेत्र में हो रहे सतत बदलावा एवं खनिज ऑनलाइन योजना अंतर्गत वर्तमान में संचालन की उपर्युक्त स्थित, ट्रांजेक्शनल फैक्ट्स के अलावा इसके अंतर्गत प्रमुख व्यवस्था, स्टेकहोल्डर्स की सुविधा एवं पोर्टल को और प्रभावी करने के उद्देश्य से खनिज ऑनलाईन 2.0 प्रस्तावित किया गया है।

प्रस्तावित खनिज ऑनलाईन 2.0 परियोजना में नये मॉड्यूल जैसे मोबाइल एप्लीकेशन, व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम, कमाण्ड कंट्रोल सेंट्रल जैसे विभिन्न नवाचार के साथ खान एवं खनिज संबंधी सम्पूर्ण कार्य डिजिटल और पेपरलेस करते हुए खनिज ऑनलाइन को अपने नए स्वरूप में बहुआयामी और सारे हितधारको के लिए सरल बनाया जा रहा है।

Tags
Back to top button