छत्तीसगढ़

स्कूल तो है लेकिन स्कूल के लिए सड़क नहीं

रनपुर/ जशपुर : बगीचा ब्लॉक के ग्राम सराबकम्बो में बनी हाई स्कूल में आने जाने के लिए आज तक सड़क नई बन पाई है। कई सालों तक बच्चे बिना सड़क के पगडण्डी मार्ग से नाला पार कर स्कूल जाते हैं । बच्चे सहित स्टाफ भी इस छोटे नाले में कई बार गिर चुके हैं । ग्राम पंचायत साहित ब्लॉक और जिले स्तर तक प्रशाशनिक अधिकारियों को इस समस्या से अवगत कराया गया है लेकिन सालों बीत गए आज तक स्कूल के लिये पहुंचविहीन मार्ग नहीं है ।
बच्चे खेत में से गुजर कर रोजाना स्कूल आया जाया करते हैं ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्कूल के लिये मार्ग बनने में कई अड़चने आ रही है। निजी जमीन होने के कारण समस्या हो रही है । बताया जा रहा है कि मार्ग पास हो चुकी है लेकिन जमीनी विवाद के कारण अटकी हुई है । जिसको जगह बदल कर कार्य बरसात के बाद शुरू होने की है । जिसके चलते करीब 170 विद्यार्थियों को समस्या हो रही है ।

सरगुजा प्राधिकरण के उपाध्यक्छ और जशपुर विधायक श्री राजशरण भगत भी उसी पगडण्डी मार्ग से आये लेकिन वो भी आये और भूल गए ।

बड़ा हादसा टला
ईद के दिन स्कूल में अचानक एकाएक हादसा हो गया संजोग की स्कूल में उस दिन छुट्टी थी और शाला बंद थी । की अचानक शाट शर्किट हुई और स्कूल के पूरे विद्युत प्रवाहित तार में आग लग गई । जिसमें कुछ स्कूली सामान के साथ साथ कई सामान जल गए । जिसमें करीब 80 हज़ार रुपये की नुकसान हुई है। वहीँ वहाँ के प्राचार्य इकबाल अहमद खान का कहना है कि शॉट शर्किट से विद्युत प्रभावित है जिसके कारण स्कूली संबंधी कार्य प्रभावित हो गए हैं जिसको सम्बंधित अदिकारियों को अवगत कराया गया है।

वहीँ शाला नायिका बबिता मानिकपुरी का कहना है कि सड़क नहीं रहने से हम सभी विद्यार्थियों को आने जाने में भारी परेशानी हो रही है ।

शाला नायक हर्ष कुमार नायक का कहना है कि यहाँ स्कूल आने के लिय कई किमी दूर भरी बरसात में साइकिल छोड़ कर स्कूल आना पड़ता है । बरसात में पगडण्डी रस्ते में आने से गिर कर कपडे गंदे हो जाते हैं । और नाला होने से समस्या हो रही है ।

Back to top button