जॉब्स/एजुकेशन

नौवीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए आठ अक्टूबर से आधे दिन खुलेंगे स्कूल

कोविड-19 हालात के मद्देनजर मध्याह्न भोजन भी नहीं मिलेगा।

पुडुचेरी। पुडुचेरी सरकार ने शुक्रवार को कहा कि नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए आठ अक्टूबर से स्कूल खुल रहे हैं। यह आदेश पुडुचेरी और कराईकल में लागू होगा। शिक्षा निदेशक रुद्र गौडप ने संवादाताओं को बताया कि अगले आदेश तक कक्षाएं सप्ताह में छह दिन सोमवार से शनिवार) रोज आधे दिन के लिए लगेंगी। आदेश के अनुसार, नौवीं और 11वीं के छात्रों की कक्षाएं सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को होंगी, जबकि 10वीं और 12वीं के छात्रों की कक्षाएं मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को होंगी।

उन्होंने कहा कि इस दौरान छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी और इन कक्षाओं का लक्ष्य छात्रों की समस्याओं को सुलझाना होगा। कक्षाओं में शामिल होने के लिए छात्रों को विभाग द्वारा तय फॉर्मेट में अपने अभिभावकों से अनुमतिपत्र लाना होगा। गौड ने कहा कि फिलहाल छात्रों को स्कूल आने-जाने के लिए परिवहन की सुविधा नहीं मिलेगी। कोविड-19 हालात के मद्देनजर मध्याह्न भोजन भी नहीं मिलेगा।

15 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल! इन सख्त नियमों का करना होगा पालन

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अनलॉक 5.0 को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है। इसके बाद यूपी-एमपी, बिहार, राजस्थान सहित विभ‍िन्न राज्यों में स्कूल खोलने की तैयारी की जा चुकी है। इसे लेकर सरकार ने सख्त गाइडलाइन बनाई है। गाइडलाइन के मुताबिक, स्कूलों की तरफ से छात्रों पर कक्षाओं में आने के लिए कोई दबाव नहीं डाला जाएगा। यहां तक कि स्कूल जाने के लिए छात्रों को अभिभावकों की लिखित अनुमति लेना अनिवार्य है। इसके अलावा स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह जारी रखेंगे। यही नहीं, केंद्र सरकार ने ये भी कहा है कि 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने हैं या नहीं खोलने हैं, इसका फैसला भी राज्य सरकारों पर छोड़ दिया है। स्कूल खोलने को लेकर राज्य अपने प्रदेश की यथास्थ‍ित‍ि और तैयारियों के अनुसार लेंगे। वो अपने राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण मामलों के आकलन के बाद ही ये फैसला लेंगे, उन पर किसी तरह का दबाव नहीं है।

लैबोरेट्री/एक्सपेरीमेंटल कार्यों के लिए खोलेंगे

इसमें ये कहा गया है कि अगर बच्चे स्कूल नहीं आते और उनके अभ‍िभावक ऑनलाइन कक्षाओं के लिए तैयार हैं तो स्कूल बिना लिख‍ित अनुमत‍ि के बच्चों को आने के लिए नहीं कहेंगे। इसमें अटेंडेंस को लेकर बच्चों पर कोई प्रेशर नहीं दिया जाएगा। सरकार ने ये भी स्पष्ट किया है कि स्कूल-कॉलेज या शिक्षण संस्थानों के खुलने पर राज्य सरकार और प्रशासन की ओर से तैयार एसओपी का पालन करना अनिवार्य होगा। राज्य के सभी उच्च शिक्षा संस्थान 15 अक्टूबर से साइंस और टेक्नोलॉजी स्ट्रीम में पीएचडी और पोस्ट-ग्रेजुएट छात्र-छात्राओं के लिए लैबोरेट्री/एक्सपेरीमेंटल कार्यों के लिए खोलेंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार ने 15 अक्टूबर से सभी शैक्षण‍िक संस्थान खोलने की तैयारी पूरी कर ली है। राज्य सरकार इसके लिए गाइडलाइन तैयार कर रही है। इसके अलावा बिहार में 28 सितंबर से नौवीं से 12वीं तक के स्कूल खुल चुके हैं। 15 अक्टूबर से बिहार में भी शैक्षणिक संस्थान खोलने को कहा गया है। वहीं दिल्ली-एनसीआर में केजरीवाल सरकार ने अपने पहले आदेश में पांच अक्टूबर तक सभी निजी व सरकारी स्कूल बंद रखने का आदेश दिया था। सरकार पांच अक्टूबर के बाद ये तय करेगी कि राज्य में क्या ऐसी स्थ‍िति है कि 15 अक्टूबर से स्कूल-कॉलेज तय गाइडलाइन के साथ खोले जा सकें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button