बड़ी खबरराज्यराष्ट्रीय

लॉकडाउन के बाद 30 फीसदी छात्रों के साथ खुलेंगे स्कूल: शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल

यूजीसी नेट परीक्षा की तारीख अगले दो दिनों में होगी घोषित

नई दिल्ली: लॉकडाउन के बाद स्कूलों को 30 फीसदी छात्रों की आवाजाही के साथ खोला जा सकता है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को ट्विटर पर देश भर के शिक्षकों से लाइव संवाद करते हुए कहा कि स्कूलों और उच्च शिक्षण संस्थानों को फिर से खोलने के लिए गाइड लाइन तैयार की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए स्कूलों के लिए एनसीईआरटी और उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए यूजीसी नए दिशा-निर्देश तैयार कर रहे हैं। लॉकडाउन के बाद इन्हीं दिशा-निर्देशों के आधार पर स्कूल कॉलेज और उच्च शिक्षण संस्थानों में पठन-पाठन होगा।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि देश में करीब एक हजार विश्वविद्यालय, 45 हजार डिग्री कॉलेज, एक करोड़ शिक्षक और 33 करोड छात्र हैं। यह अमेरिका से भी बड़ी आबादी है। कोविड-19 जैसी विषम परिस्थितियों ने सभी राज्यों को एकजुट किया है। सभी राज्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मिलकर इस संकट से लड़ रहे हैं।

लॉकडाउन नए दिशा-निर्देशों के साथ खुलेगा

विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में पढाई व परीक्षा कार्यों को फिर से सुचारू करने के लिए यूजीसी ने टास्क फोर्स का गठन किया है। जबकि एनसीईआरटी स्कूलों को खोलने के साथ छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के दिशा-निर्देश तैयार कर रही है। जिसमें लॉक डाउन खुलने पर 30 फीसदी छात्रों को स्कूल आने की अनुमति होगी। जिससे एक कक्षा के छात्रों को चरणबद्ध तरीके से पढाई के लिए बुलाया जाएगा। लॉकडाउन नए दिशा-निर्देशों के साथ खुलेगा। यह दिशा-निर्देश एनसीईआरटी तैयार कर रहा है।

बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिका जांच रहे शिक्षक नहीं करेंगे अन्य काम

निशंक ने एक शिक्षक के सवाल पर कहा कि सीबीएसई की ओर से यह साफ निर्देश दिए गए हैं कि बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं को जांचने वाले शिक्षकों को नए सत्र की अकादमिक गतिविधियों से दूर रखा जाए। उन्हें छात्रों को पढ़ाने के लिए रोजाना पाठ्यक्रम की रिपोर्ट भेजने के काम से छूट है।

ऐसे शिक्षक सिर्फ उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन करें। सीबीएसई ने देश में तीन हजार परीक्षा मूल्यांकन केंद्र बनाए हैं। जहां से शिक्षकों के घर छात्रों की उत्तर पुस्तिकाएं भेजी जा रही हैं। जिससे 50 दिनों में बोर्ड परीक्षा की 1.5 करोड उत्तर पुस्तिकाएं जांची जा सकें और शेष परीक्षाओं का आयोजन कर परिणाम जारी किया जा सके। उन्होनें यह भी कहा कि स्वयं प्रभा के माध्यम से 32 चैनलों का डीटीएच पर प्रसारण किया जा रहा है। इसके अलावा दीक्षा पोर्टल और ई-पाठशाला पर ऑनलाइन पाठ्य सामग्री से छात्र पढाई कर रहे हैं। अभिभावक और शिक्षक मिलकर सीमित संसाधनों के बीच मिलकर छात्रों को पढा रहे हैं।

यूजीसी नेट परीक्षा की तारीख अगले दो दिनों में होगी घोषित

निशंक ने कहा कि यूजीसी नेट परीक्षा का शेड्यूल अगले दो दिनों में जारी किया जाएगा। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यूजीसी नेट परीक्षा आवेदन की सोमवार के अंतिम तारीख है। जिसे आगे बढाने के साथ ही परीक्षा सितंबर माह के अंत में आयोजित की जाएगी और परीक्षा का परिणाम अक्टूबर में जारी किया जाएगा।

Tags
Back to top button