हेल्थ

इंसान के नाक के पिछले हिस्से में वैज्ञानिकों को मिला नया अंग

करीब 100 मरीजों पर हुई रिसर्च में यह ग्लैंड पाई गई

नई दिल्ली: नीदरलैंड्स के कैंसर इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने इंसान के नाक के पिछले हिस्से में नया अंग मिला है, जिसे ट्यूबेरियल सेलाइवरी ग्लैंड का नाम दिया है। वैज्ञानिकों का कहना है, यह नया अंग तब सामने आया जब वे प्रोस्टेट कैंसर पर रिसर्च कर रहे थे।

वैज्ञानिकों का दावा है, इस अंग से कैंसर के इलाज में मदद मिल सकती है। रेडियोथैरेपी एंड ऑन्कोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, ट्यूबेरियल सेलाइवरी ग्लैंड की लम्बाई 1.5 इंच है।

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह अंग क्या काम करता है, साफतौर पर नहीं बताया जा सकता लेकिन हो सकता है इसका काम नाक और मुंह के पीछे यानी गले के ऊपरी हिस्से को ल्युब्रिकेट करना हो।

वैज्ञानिकों के मुताबिक, करीब 100 मरीजों पर हुई रिसर्च में यह ग्लैंड पाई गई है। अभी तक माना जाता था कि नाक के पिछले हिस्से में कुछ नहीं होता है। सिर्फ जीभ और जबड़े नीचे और पीछे 1-1 सेलावरी ग्लैंड पाई जाती थी। लेकिन अब एक नई ग्लैंड मिली है। इनकी संख्या 4 हो गई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button