जांच में अनियमिताएं पाए जाने के बाद खदान को किया गया सील बंद

पिथौरा विकासखंड के ग्राम नवागांव सल्डीह के शासकीय मिडिल स्कूल में हादसे के बाद कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए थे

मनोज मिश्रा

महासमुंद। पिथौरा विकासखंड के ग्राम नवागांव सल्डीह के शासकीय मिडिल स्कूल में हादसे में कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए थे। बीते गुरूवार को स्टोन क्रेशर प्लांट की वजह से स्कूल में पढ़ रहे बच्चे बाल-बाल बचे।

हादसे की जांच के लिए कलेक्टर ने एक समिती बनाई गई। कमेटी में मुख्य रूप से कलेक्टर सुनील कुमार जैन के अलावा अपर कलेक्टर मोहम्मद शरीफ खान, अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व पिथौरा बीसी एक्का, खनिज अधिकारी एनके रायस्त, टीआई बसना की संयुक्त टीम गठित कर जांच की गई।

मेसर्स बालाजी स्टोन क्रेशर प्लांट के खदान से बारूद से विस्फोट कर बोल्डर पत्थर निकाला जा रहा था। विस्फोट के दौरान एक पत्थर छिटक कर नवागांव सल्डीह के मीडिल स्कूल में छत से टकराया। पत्थर छत्त को छेद करते हुए स्कूल के कमरे में जा गिरा।

हादसे के समय स्कूल में क्लास चल रही थी। पत्थर गिरने से क्लास में पढ़ रहे बच्चे सहम गए, और इस दौरान बड़ा हादसा टल गया। सूचना मिलने के बाद ग्रामीणों में आक्रोश का माहौल है। जांच के दौरान स्टोन क्रेशर प्लांट में बहुत सी अनियमिताए पायी गयी है.

खदान की मालिक बसना निवासी अनिता अग्रवाल ब्लास्टिंग का पंजी संधारण नहीं करना, खदान क्षेत्र के तहत सीमा अंकित नहीं करना, ब्लास्ट करने के पहले गांवों में सूचना, मुनादी नहीं करवाना, खदान एरिया से स्कूल की दूरी में ज्यादा अंतर न होना पाया गया। अब जांच के बाद खामियां मिलने पर तत्काल आगामी आदेश तक के लिए खदान को सील बंद कर दिया गया है।

Back to top button