वोटरों को लुभाने सामान बांटने का दौर शुरू, शॉल व साड़िया जब्त

रोशन सोनी

सरगुजा।

7 सितंबर को छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की तिथि घोषित होते ही आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई। ऐसे में प्रशासन व पुलिस ने राजनीतिक पार्टियों पर पैनी नजर रखनी शुरु कर दी है। इधर चुनावी बिगुल बजते ही राजनीतिक पार्टियों द्वारा वोटरों को लुभाने सामान बांटने का दौर भी शुरु हो गया है।

रविवार को भी वोटरों को बांटने के एक बड़ी पार्टी द्वारा काफी संख्या में शॉल व साडिय़ां मंगाई गई थीं। इसकी शिकायत मिलते ही फ्लाइंग स्क्वायड की टीम द्वारा शहर के घुटरापारा में लावारिश पड़े 15 शॉल व 18 साडिय़ां जब्त की गईं।

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा, कांग्रेस, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़, आप पार्टी समेत निर्दलीय के दावेदारों ने चुनाव प्रचार शुरु कर दिया है। हालांकि अभी भाजपा व कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है। इसके बावजूद मजबूत दावेदार इस काम में लगे हुए हैं। इधर 7 सितंबर को विधानसभा चुनाव की तिथि घोषित होते ही आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई।

ऐसे में राजनीतिक पार्टियों पर प्रशासन ने भी पैनी नजर रखनी शुरु कर दी है। इसी कड़ी में रविवार की दोपहर शिकायत पर उडऩदस्ता दल ने शहर के घुटरापारा स्थित पानी टंकी के पास लावारिस पड़ी 18 साडिय़ां व 15 शॉल जब्त की।

जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि जब्त साडिय़ां व शॉल एक बड़ी राजनीतिक पार्टी की है। राजनितिक दलों के द्वारा पहले से ही वोटरों को लुभाया जा रहा है,चुनाव की तिथि घोषित होने से पूर्व से ही एक-दो पार्टियों ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी थी।

वहीं कुछ पार्टी में एक ही दावेदार के नाम सामने थे। ऐसे में उनके द्वारा वोटरों को लुभाने का काम लंबे समय से किया जा रहा था। पूर्व में तो साडिय़ां व शॉल बेधड़क बांटी जा रही थीं लेकिन आचार संहिता लगते ही चोरी-छिपे यह काम शुरु कर दिया गया।

गौरतलब है कि भाजपा ने अभी अपने किसी भी सीट के लिए प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है।आचार संहिता को लेकर उखाड़े जा रहे है बेनर और पोस्टर अभी तक 4 हजार बैनर-पोस्टर आदर्श आचार संहिता लगते ही प्रशासन ने संभाग मुख्यालय के अंबिकापुर समेत बलरामपुर, सूरजपुर, बिश्रामपुर, प्रतापपुर, उदयपुर, लखनपुर, सीतापुर, वाड्रफनगर समेत अन्य जगहों से राजनीतिक पार्टियों के बैनर-पोस्टर उखाड़कर जब्त किए।

Back to top button