एसईसीएल में तेजी से कार्य सम्पादन पर जोर

सूचना प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से कार्यप्रणालियों को किया जा रहा है बेहतर

RAIPUR: वर्ष 2020 में कोविड-19 से सामान्य जनजीवन एवं दैनंदीन कार्यालयीन कार्य व्यापक स्तर पर प्रभावित हुआ। जहाँ लाॅकडाऊन के दौरान जीवन एवं व्यापार की गति धीमी हो गयी वहीं एसईसीएल अपने कार्यशैली को बेहतर करने में जुटा रहा। सूचना प्रौद्योगिकी के व्यापक इस्तेमाल से एसईसीएल ’पेपरलेस आॅफिस’ के सिद्धांत को यथार्थ रूप देने की पुरजोर कोशिश करता रहा, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं।

कार्यों के कुशलतापूर्वक निष्पादन हेतु सूचना प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल एसईसीएल की सर्वोच्च प्राथमिकता आरंभ से ही रही है। इस श्रृंखला में कार्यालयीन कार्य में ई-आफिस प्रणाली को लेकर भी एसईसीएल का सकारात्मक पहल रहा है।

एसईसीएल में 01.04.2020 से ई-आॅफिस का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया गया। इस प्रणाली से अब सारे कर्मी सभी कार्यालयीन कार्य कम्प्यूटर के माध्यम से अपने यथास्थान से कर सकते हैं। यही वजह है कि जब लाॅकडाऊन घोषित किया गया एसईसीएल का कार्यालयीन कार्य ’ई-आॅफिस’ के माध्यम से कर्मियों द्वारा अपने आवास से सम्पादित किया गया।

पूर्व में हर कार्य के लिए एक अलग फाईल बनायी जाती थी जिसमें उस विषय से जुड़े हुए कागज संलग्न कर संबंधित अधिकारी के अनुमोदन/सूचना आदि के लिए प्रेषित किया जाता था। व्यक्तिशः फाईलों को प्रेषित करने से इसमें अधिक समय लगता था। ’ई-आॅफिस’ के इस्तेमाल से यह समय न्यूनतम हो गया है। त्वरित निर्णय होने लगे हैं एवं कार्य में तेजी आई है। वर्तमान में कार्यालयीन कार्य ई-आफिस के माध्यम से तेजी से संपादित हो रहे हैं।

सामग्री एप’ का शुभारंभ

’ई-आॅफिस’ के साथ-साथ ही एसईसीएल अपने अन्य प्रणालियों को सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से सम्पन्न कराने पर जोर दे रहा है। हाल ही में सतर्कता जागरूकता सप्ताह के प्रथम दिवस दिनांक 27.10.2020 को एसईसीएल द्वारा ’सामग्री एप’ का शुभारंभ किया गया। ’सामग्री एप’ के माध्यम से कर्मियों को एसईसीएल के विभिन्न भण्डारों में उपलब्ध सामग्री की जानकारी उपलब्ध हो पाएगी। इस एप के इस्तेमाल से संबंधित कार्य में तेजी एवं पारदर्शिता आएगी, साथ ही कर्मी इस सुविधा को अपने मोबाईल से इस्तेमाल कर सकेंगे। यह एप एसईसीएल वेबसाईट पर उपलबध हैं।

इसी क्रम में एसईसीएल द्वारा 596 सीसीटीवी कैमरे क्रय किए गए हैं जिनका एसईसीएल के विभिन्न क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जाएगा। यह उन 755 सीसीटीवी कैमरे, जो वर्तमान में कार्यरत है, के अतिरिक्त है। साथ ही 29 रोड वे-ब्रिज में से प्रथम चरण में 100 टन केे 10 इलेक्ट्रानिक रोड वे-ब्रिज का निर्माण गेवरा, भटगांव एवं रायगढ़ क्षेत्र में प्रक्रियाधीन है। वर्तमान में 191 रोड वे-ब्रिज मौजूद है। दीपका, रायगढ़, भटगांव, हसदेव क्षेत्र में कुल 5 बुम बेरियर स्थापित किए गए। यह पूर्व से एसईसीएल के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित 125 बुम बेरियर के अतिरिक्त है। एसईसीएल द्वारा की गई इस पहल के कारण कार्यों के संपादन में अनुशासन के साथ-साथ बेहतर निगरानी भी संभव होगी।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button