अंतरकम्पनी हाॅकी प्रतियोगिता 2018-19 में एसईसीएल उप-विजेता

रायपुर : कोलइण्डिया अंतरकम्पनी हाॅकी प्रतियोगिता 2018-19 का आयोजन सिंगरैनी कोल कम्पनी कोथागुड्डम के मनुगुरू क्षेत्र के हाथपाड़ी स्टेडियम में सम्पन्न हुआ जिसमें एसईसीएल बिलासपुर सहित मेजबान सिंगरैनी कोल कम्पनी कोथागुड्डम, डब्ल्यूसीएल नागपुर, बीसीसीएल धनबाद, सीसीएल राॅंची, एनसीएल सिंगरौली, एमसीएल संबलपुर, ईसीएल आसनसोल ने भाग लिया ।

एसईसीएल के इस हाॅंकी टीम के कोच मुस्ताकुद्दीन कोरबा, कप्तान-श्री अरविन्द कुमार, निखिल केरकेट्टा, सिलवानुस टोप्पो सभी गेवरा, वामन राव बरगट, कैलाश कोल, प्रकाश चैधरी, एस.आर. बरगट सभी सोहागपुर, विरेन्द्र टोप्पो, अलेकजेन्डर कुजूर, अजीत बरूआ सभी कुसमुण्डा, विकास शंकर ओझा बैकुण्ठपुर, सी. खलखो भटगांव, जकारियस टोप्पो बिश्रामपुर, जय कुमार जोहिला, रवि यादव दीपका, एस0 राजेश हेनरी मुख्यालय बिलासपुर, थे।

यह हाॅकी प्रतियोगिता लिक-कम-नाक-आऊट आधार पर आयोजित की गयी थी जिसमें एसईसीएल की हाॅकी टीम पुल-ए में टाप में रही। एसईसीएल की टीम अपने पुल-ए में अपने पहले मैच में डब्ल्यूसीएल नागपुर को 1-0 से हराया इस मैच में एकमात्र गोल एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर के एस0 राजेश हेनरी द्वारा किया गया जिन्हें मैन आफ दी मैच दिया गया। एसईसीएल का दूसरा मैच ईसीएल आसनसोल से हुआ जिसमें एसईसीएल ने 15-0 से एकतरफा विजय हासिल की इसमें मैन आफ दी मैच एसईसीएल के विकास शंकर ओझा को प्राप्त हुआ।

ग्रुप का अंतिम व तीसरा मैच एसईसीएल विरूद्ध मेजबान सिंगरैनी कोल कम्पनी के मध्य खेला गया जिसमें मेजबान टीम को 2-0 से पराजित कर एसईसीएल ने अपने पुल-ए में प्रथम स्थान प्राप्त कर सेमीफाईनल में जगह सुनिश्चित की, दोनो गोल एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर के एस0 राजेश हेनरी द्वारा किया गया जिन्हें मैन आफ दी मैच दिया गया। सेमीफाईनल मैच पूल-बी की उप विजेता एनसीएल से खेला गया जिसमें एसईसीएल 3-0 से विजयी रहा इसमें एसईसीएल के विकास शंकर ओझा, सिलवानुस टोप्पो व अरविन्द कुमार ने गोल मारा। फाईनल में एसईसीएल का मुकाबला सिंगरेनी कोल कम्पनी से हुआ जिसमें सिंगरेनी ने एसईसीएल को 2-1 से पराजित कर 2018-19 की विजेता रही।

कोलइण्डिया अंतर कम्पनी हाॅकी प्रतियोगिता की एसईसीएल की उप-विजेता टीम विजयी कप के साथ निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर0एस0 झा से प्रबंधक (कल्याण) श्री संजीव झा सहित सौजन्य भेंट किए जिस पर उन्होंने टीम के समस्त खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि हमारे देश का राष्ट्रीय खेल हाॅकी खेल आधारित बुद्धिमत्ता, बाॅल एवं स्टीक की पैतरेबाजी तथा प्रत्येक क्षण बदलते दांव की वजह से लोगों के बीच लोकप्रिय है। हाॅकी खेल आपसी तालमेल का खेल है जिसमें एकजुटता के साथ विरोधी टीम पर हमला कर विजय पाया जाता है। हाॅकी खेल लय, ताल, आपसी सूझबूझ व दमखम का खेल है।

Back to top button