सिक्युरिटी गार्ड राजभान सिंह ठाकुर ने मामूली कहासुनी के बाद चलाई गोली

छर्रे लगने से बैंककर्मी संदीप सोलंकी, दीपक पाटिल व उसका भाई अशोक घायल

नई दिल्ली:फेडरल बैंक रतलाम कोठी शाखा में सिक्युरिटी गार्ड राजभान सिंह ठाकुर और बैंककर्मी दीपक पाटिल में कहासुनी हुई और गार्ड ने लाइसेंसी बंदूक उठाकर डराने की मंशा से जमीन की ओर गोली चला दी। छर्रे लगने से बैंककर्मी संदीप सोलंकी, दीपक पाटिल व उसका भाई अशोक घायल हो गया। गार्ड का दीपक से पुराना विवाद है।

फेडरल बैंक रतलाम कोठी शाखा के सिक्युरिटी गार्ड राजभान सिंह ठाकुर ने मामूली कहासुनी के बाद गोली चला दी। छर्रे लगने से बैंककर्मी संदीप सोलंकी, दीपक पाटिल व उसका भाई अशोक घायल हो गया। गार्ड का दीपक से पुराना विवाद है। शाम को दोनों में फिर

एएसपी (पूर्वी-1) जयवीर सिंह भदौरिया के मुताबिक मंगलवार शाम करीब सवा छह बजे आरोही अपार्टमेंट का चौकीदार दीपक पुत्र संतोष पाटिल दवा लेने आया था। वह बैंक के पास दया की गुमटी पर चाय पीने लगा। तभी बैंक का गार्ड भी वहां आ गया और मुस्कुराते हुए दीपक की ओर इशारा करते हुए दया से पूछा ‘ये लड़का वो ही है ना’।

इसी बात पर दीपक से बहस हो गई और दोनों ने एक-दूसरे को देख लेने की धमकी दे डाली। थोड़ी देर बाद दीपक भाई अशोक (ड्राइवर), शोएब और राहुल को लेकर आया और गार्ड से विवाद करने लगा।

दीपक ने गार्ड को मारने के लिए पत्थर उठाना चाहा, तो गार्ड दौड़कर बैंक में घुसा व लाइसेंसी बंदूक ले आया। उसने आरोपितों को ललकारा और बंदूक का मुंह जमीन की तरफ कर गोली चला दी। छर्रे हवा में उछले और बैंककर्मी संदीप पुत्र सुरेश सोलंकी के साथ दीपक व अशोक को लगे।

गाड़ी चलाने का विवाद

टीआइ के मुताबिक अभी विवाद की ठोस वजह सामने नहीं आई है। गार्ड ने बताया कुछ दिन पहले गलत दिशा में गाड़ी चलाने पर दीपक से कहासुनी हुई थी। शाम को वह दोबारा टकराया, तो उसने मजाक में दया से उसके बारे में पूछा। इस पर दीपक को बुरा लगा।

बैंक बंद कर भागा स्टाफ

घटना से बैंक में हड़कंप मच गया। अशोक व दीपक को तो कम चोट आई, लेकिन संदीप ज्यादा घायल हुआ। वह खून से सने पैर लेकर बैंक में गया तो अफसर व कर्मचारी भाग गए। एक अफसर उसे ढक्कनवाला कुआं स्थित निजी अस्पताल ले गए। सूचना मिलने पर टीआइ राजीव त्रिपाटी और एसआइ संदीप पाटील भी पहुंचे और गार्ड को गिरफ्तार कर बंदूक जब्त की।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button