बड़ी खबरराष्ट्रीय

इंडियन आर्मी के तेवर देख पाक फौज की हवा शंट,देखें जंग मुद्दे पर क्या बोला DGISPR

पाकिस्तान का एक माल वाहक विमान वहां लैण्डिंग भी कर चुका है

नई दिल्ली। चीन के खिलाफ तल्ख तेवर और एलएसी विवाद पर भारत को मिल रहे अंतर्राष्ट्रीय समर्थन से पाकिस्तान की हवा शंट हो गयी है। पाकिस्तानी आर्मी के हुक्मरान गिड़गिड़ाकर कह रहे हैं कि पाकिस्तान में चीनी आर्मी नहीं है। हमने एलओसी पर फौज का जमाबड़ा नहीं किया है। हमारी फौज एलओसी की ओर नहीं बढ़ रही है। पाकिस्तान स्कर्दू समेत किसी भी एयरबेस से चीनी लड़ाकू जहाजों को उड़ने की मंजूरी नहीं देगा।

पाकिस्तानी आर्मी का रोना-बिलबिलाना अकारण नहीं है। क्योंकि भारतीय खेमे में जैसे ही इस तरह की खबरें पहुंचीं कि चीनी आर्मी के अफसरों ने पाकिस्तानी फौजी अफसरों के साथ एलओसी का दौरा किया है। वैसे ही इंडियन आर्मी ने चीन के साथ-साथ पाकिस्तान से दो-दो हाथ करने की तैयारियां शुरू कर दीं। इतना ही नहीं युद्ध के समय अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस जर्मनी के बाद रूस ने भी खुलकर भारत का साथ देने के संकेत भी दे दिये हैं।

चीन इस समय भारत के अलावा चार अन्य मोर्चों पर भी घिरा हुआ है। भारत से जंग के हालात में चीन शायद पाकिस्तान को एक सीमिति दायरे में ही मदद कर पायेगा। चीन की इस मदद के भरोसे भारत से जंग नहीं लड़ी जा सकती। क्योंकि पाकिस्तान के आर्थिक और राजनीतिक हालात बहुत तंग हैं। ऐसे में पाकिस्तानी आर्मी को लगा कि अगर वक्त रहते उसने अपनी स्थिति साफ नहीं की तो भारत चीन से पहले पाकिस्तान को नेस्ताबूद कर सकता है।

हम पाकिस्तान में चाईनीज फौजों की मौजूदगी का जोरदार तरीके से खण्डन करते हैं

इंडियन आर्मी के तेवरों को देखते हुए पाकिस्तानी फौज के मुखिया जनरल कमर जावेद बाजवा ने डीजी आईएसपीआर को निर्देश दिये कि वो तुरंत अपनी स्थिति की जानकारी सोशल मीडिया पर जाहिर करे। इन निर्देशों के बाद डीजीआईएसपीआर मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार ने एक के बाद एक दो ट्वीट किये।

इंडियन आर्मी के तेवरों से खौफजदा मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार सिर्फ इतना लिख पाये कि इंडियन मीडिया में चल रही खबरें गलत हैं। हमारी किसी ट्रुप का मूवमेंट नहीं हुआ है। ट्वीट के अंत में बाबर इफ्तिकार ने लिखा है, ‘हम पाकिस्तान में चाईनीज फौजों की मौजूदगी का जोरदार तरीके से खण्डन करते हैं।’ मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार के ट्वीट की भाषा बताती है कि पाकिस्तानी फौज बेहद खौफजदा है और इंडियन आर्मी से सीधी जंग की बात सोचना भी नहीं चाहती।

बहरहाल, भारतीय रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तानी फौज की ओर से किए गये ट्वीट अपने पाप छुपाने की एक साजिश है। यह बात तो तय है कि पाकिस्तान किसी भी सूरत में भारत से सीधी जंग नहीं चाहता लेकिन छुप कर वार करने में वो चूकता भी नहीं है।

ऐसा भी हो सकता है कि वो इंडियन आर्मी का ध्यान भटकाने के लिए ऐसे ट्वीट कर रहा है। क्यों कि चीनी पीएलए के अफसरों ने पश्चिमी मोर्चे पर 1971 की जंग के बाद से बंद पड़ी हवाई पट्टी को फाइटर जेट्स के काबिल बनाने में सहयोग किया है। पाकिस्तान का एक माल वाहक विमान वहां लैण्डिंग भी कर चुका है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button