प्रधानमंत्री जल सम्मेलन हेतु राज्य के श्रेष्ठ 8 पंचायतों में मुंगेली जिले के वनग्राम झिरिया का चयन

केन्द्र एवं राज्य सरकार के अधिकारियों द्वारा किया गया निरीक्षण

– मनीष शर्मा

मुंगेली: जल संरक्षण एवं जल संचयन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले ग्राम पंचायतों के केस स्टडीस में छत्तीसगढ़ के 8 ग्राम पंचायतों में से मुंगेली जिले के लोरमी विकासखण्ड के ग्राम पंचायत झिरिया का चयन किया गया है। जिसे हमर जंगल हमर आजीविका के तहत सभी विभागों के अभिसरण से विकसित किया जा रहा है।

इस ग्राम पंचायत को श्रेष्ठ कार्यो हेतु नामांकित किया गया था जिसका स्थल/भौतिक सत्यापन हेतु एनआईआरडी एण्ड पीआर हैदराबाद के द्वारा नियुक्त तकनीकी विशेषज्ञ डॉ. बी.सी. मैकप, प्रो. आई.आई.टी खड़गपुर के साथ राज्य नोडल अधिकारी नारायण निमजे अधीक्षण अभियंता,

विनय गुप्ता कार्यपालन अभियंता, संदीप चौधरी (प्रचार-प्रसार अधिकारी) द्वारा ग्राम पंचायत-झिरिया में महात्मा गांधी नरेगा योजना और डीएमएफ योजना अंतर्गत कराये गये कार्य का निरीक्षण एवं लाभार्थी से चर्चा कर योजना से हुए लाभ -हानि के बारे में जानकारी ली गई। मनरेगा योजना से डबरी हितग्राही मुन्ना तिलगाम, नरेश तिलगाम, जोनिहा, हजारी, रम्भू और स्व सहायता समूह द्वारा की जा रही मछली पालन की जानकारी ली गई।

केन्द्रीय दल के स्थल-भौतिक सत्यापन के दौरान जिला पंचायत मुंगेली के सहायक परियोजना अधिकारी विनायक गुप्ता, तकनीकी समन्वयक नवनीत कुमार सोनी, आईसीआरजी उपयंत्री विकास कुमार नायक, उप यंत्री दामोदर प्रसाद वर्मा और जनपद पंचायत लोरमी से मुख्य कार्यपालन अधिकारी लक्ष्मीकांत कौशिक, अनुविभागीय अधिकारी (ग्रा.यां.से.) बी.पी. गुप्ता, कार्यक्रम अधिकारी (मनरेगा) अशोक कुमार साहू,

उप यंत्री सतीश साहू, खुशवंत पटेल, तकनीकी सहायक चन्द्रप्रकाश कश्यप, इम्तियाज अली, खेमराज पात्रो, राहूल सिंह क्षत्रीय, सूर्यप्रकाश राजपूत, रविकांत जायसवाल, गांगेश साहू, बेयरफुट टेक्निशिय प्रकाश साहू, जनीराम साहू, ग्राम पंचायत झिरिया के सरपंच बबलू यादव, सचिव तातूराम निर्मलकर, ग्राम रोजगार सहायक टेकराम नेताम एवं झिरिया के समस्त ग्रामवासी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button