बड़ी खबरबिज़नेस

अंतिम समय में बिकवाली से सेंसेक्स ने खोई शुरुआती तेजी; बैकिंग, वित्तीय शेयरों पर रहा दबाव

मुंबई. वैश्विक बाजारों से मिले जुले संकेतों के बीच बैंक, वित्तीय व उपभोक्ता उत्पाद कंपनियों के शेयरों में गिरावट से शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट रही. बीएसई का 30 शेयरों वाला ‘सेंसेक्स’ मजबूती के साथ खुला लेकिन आखिरी घंटे में हुई बिकवाली से यह 134 अंक गिरकर बंद हुआ.

बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का कारोबार की समाप्ति पर 134.03 अंक यानी 0.34 प्रतिशत गिरकर 38,845.82 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 11.15 अंक यानी 0.10 प्रतिशत फिसलकर 11,504.95 अंक पर बंद हुआ. सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में एचडीएफसी बैंक में सर्वाधिक 2.39 प्रतिशत की गिरावट रही. इसके अलावा कोटक बैंक, बजाज फिनसर्व, मारुति सुजुकी, टाइटन, भारतीय स्टेट बैंक, ंिहदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी और टाटा स्टील में भी गिरावट रही.

इनके इतर भारती एयरटेल का शेयर सर्वाधिक 3.73 प्रतिशत तक तेजी में रहा. इसके अलावा मंिहद्रा एंड मंिहद्रा, एनटीपीसी, टेक मंिहद्रा, सन फार्मा, पावरग्रिड और ओएनजीसी के शेयरों में 2.72 प्रतिशत तक की तेजी रही. इस पूरे सप्ताह के दौरान सेंसेक्स 8.73 अंक यानी 0.02 प्रतिशत नीचे रहा जबकि निफ्टी 40.50 अंक यानी 0.35 प्रतिशत बढ़त में रहा.

जिओजीत फाइनेंशियल र्सिवसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘भारतीय बेंचमार्क सूचकांक दिन के अधिकांश समय के दौरान बढ़त में रहने के बाद कारोबार के अंतिम समय लुढ़क गये. अमेरिकी फेड रिजर्व द्वारा तत्काल प्रोत्साहन उपाय लाने में असफल रहने और कुछ देशों में वायरस के संक्रमण के पुन: उभरने के कारण वैश्विक संकेत ज्यादातर मिश्रित रहे. साप्ताहिक आधार पर घरेलू सूचकांक लगभग स्थिर रहे.’’

बीएसई के समूहों में वित्त, बैंक, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद, एफएमसीजी, पूंजीगत वस्तुएं और धातु सूचकांक में 1.16 प्रतिशत तक की गिरावट रही. दूसरी ओर स्वास्थ्य सेवा, दूरसंचार, रियल्टी, यूटिलिटी, बिजली और वाहन कंपनियों के समूह सूचकांकों में 3.50 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई.

बीएसई का मिडकैप 0.26 फीसदी चढ़ा जबकि स्मॉल कैप 0.32 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ. कारोबारियों के अनुसार, वित्तीय कंपनियों के शेयरों में गिरावट तथा विदेशी निवेशकों की बिकवाली से शुरुआत सकारात्मक होने के बावजूद घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट रही.

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने बृहस्पतिवार को 249.82 करोड़ रुपये की शुद्ध बिकवाली की. इस बीच चीन का शंघाई कंपोजिट, दक्षिण कोरिया का कोस्पी और जापान का निक्की बढ़त के साथ बंद हुआ. यूरोपीय बाजार शुरुआती कारोबार में गिरावट में चल रहे थे.

कच्चा तेल का वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.39 प्रतिशत बढ़कर 43.47 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था. वहीं, विदेशी मुद्रा बाजार में, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 21 पैसे मजबूत होकर 73.45 पर बंद हुआ.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button