लोक सेवा केन्द्र के आवेदनों का निराकरण समय-सीमा में गम्भीरता से करें: कलेक्टर

आॅनलाइन प्रविष्टि में लापरवाही बरतने वाले दो आॅपरेटरों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश

– राजशेखर नायर

धमतरी: कलेक्टर रजत बंसल ने आज दोपहर जिले के लोक सेवा केन्द्रों के संचालकों की बैठक लेकर आॅनलाइन सेवाओं की प्रगति की समीक्षा की। विशेष तौर पर लोक सेवा केन्द्र आॅपरेटरों के द्वारा तकनीकी त्रुटियों के कारण वापस हुए आवेदनों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने अगले तीन दिन के भीतर लंबित प्रकरणों की व्यावहारिक दिक्कतों को दूर करते हुए उनका निराकरण करने व कार्य में गति लाने के निर्देश बैठक में दिए। आॅनलाइन प्रविष्टि में लापरवाही बरतने तथा आवेदन के सर्वाधिक लंबित प्रकरण पाए जाने पर दो आॅपरेटरों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के लिए निर्देशित किया गया।

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने आॅपरेटरों को आय, जाति, निवास, जन्म प्रमाण-पत्र, मृत्यु प्रमाण-पत्र जैसी अनिवार्य सेवाओं के आवेदनों के लंबित होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि दस्तावेजों के अपलोड करते समय विशेष सावधानी बरतने व सही दस्तावेजों की अपलोडिंग करें, साथ ही स्कैनिंग क्वाॅलिटी सुधारने, प्राप्त आवेदनों से संबंधित पंजी का अनिवार्य रूप से संधारण करने व निर्धारित प्रपत्र में आवेदक का मोबाइल नंबर की प्रविष्टि करने के निर्देश दिए।

इसके अलावा लोक सेवा केन्द्रों में संचालित सेवाओं के सेवा प्रदायगी शुल्क की सूची अनिवार्यतः प्रदर्शित करने तथा केन्द्र के खुलने व बंद होने के समय का भी उल्लेख करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। बैठक में कलेक्टर ने यह स्पष्ट किया कि शासन की मंशा के अनुरूप आमजनता को अल्प समय में सेवाएं प्रदान करने के उद्देश्य से आॅनलाइन सुविधाएं प्रारम्भ की गई हैं और यह सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है।

इसमें सर्वाधिक महत्वपूर्ण आवेदनों का गुणवत्तापूर्वक निबटारा करना है, इसलिए सही और वांछित दस्तावेजों की अपलोडिंग हो, यह लोक सेवा केन्द्र के संचालक गम्भीरता से सुनिश्चित करें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में सेवाएं दे रहे लोक सेवा केन्द्रों के ऐसे संचालकों की सराहना भी की, जिनके द्वारा बुजुर्ग व दिव्यांग आवेदकों को शासन द्वारा दी जाने वाली पेंशन व प्रोत्साहन राशि का वितरण बाॅयोमेट्रिक डिवाइस के जरिए घर पहुंच सेवा प्रदान की जाती है, जिससे वृद्ध एवं दिव्यांग हितग्राहियों को बैंक जाकर कतार में लगना नहीं पड़ता।

बैठक में मौजूद अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल ने लोक सेवा केन्द्र के संचालकों को डाटा अपलोड करते समय सावधानी बरतने तथा आवेदनों से संबंधित दस्तावेजों को ही अपलोड शीघ्रता से करने के निर्देश दिए। डिप्टी कलेक्टर एचएल गायकवाड़, डीआईओ उपेन्द्र चन्देल, ई-जिला प्रबंधक शब्बीर हुसैन सहित लोक सेवा केन्द्र के संचालकगण उपस्थित थे।

Back to top button