छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री जन चौपाल में प्राप्त होने वाली शिकायतों का निपटारा प्राथमिकता से करें-कलेक्टर भीम सिंह

प्रवासी श्रमिकों को स्वरोजगार हेतु बैकों से लोन दिलाने की व्यवस्था करें

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

  • कलेक्टर की अध्यक्षता में टीएल (समय-सीमा) की बैठक संपन्न

रायगढ़, 26 अगस्त2020/ कलेक्टर भीम सिंह ने आज कलेक्ट्रोरेट स्थित सभाकक्ष में टीएल (समय-सीमा) की बैठक लेकर विभागीय कार्यों के साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सभी अधिकारियों से कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिये एसओपी (दिशा-निर्देशों)का पालन करने और कार्यालय के अधीनस्थ अधिकारियों-कर्मचारियों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिये।

वर्तमान समय में रायगढ़ जिले में कोरोना संकमित मरीजों की संख्या में आश्चर्यजनक वृद्धि हो रही है इसका मुख्य कारण लोगों की लापरवाही है। प्रशासन द्वारा संक्रमण रोकने हेतु सभी आवश्यक प्रबंध किये जा रहे है। परंतु लोगों द्वारा एसओपी (गाईड लाईन)का पालन ठीक से नहीं किया जा रहा है।

कलेक्टर सिंह ने नगर निगम आयुक्त एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को संक्रमित मरीजों को कोविड अस्पताल पहुंचाने तथा संक्रमित मरीजों की पहचान के लिये टीचर्स, निगम कर्मचारी तथा एनएसएस (राष्ट्रीय सेवा योजना)के युवाओं की ड्यूटी लगाने तथा उन्हें आवश्यक प्रशिक्षण देकर उनकी सेवायें लेने के निर्देश दिये तथा संक्रमित व्यक्तियों को अस्पताल लाने तथा डॉक्टर्स एवं नर्सिंग स्टॉफ के लिये आवश्यकता अनुसार वाहन उपलब्ध कराने हेतु परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया।

यह भी पढ़ें : -बारूद ब्लास्टिंग की शिकायत के जाच पर पहुंचे तहसीलदार

उन्होंने जिंदल इण्डस्ट्रियल पार्क में 200 बिस्तरों के अस्पताल की तैयारी 2 दिनों में पूर्ण करने के लिये लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता को कहा।

कलेक्टर सिंह ने बताया कि कोविड अस्पतालों में भर्ती किये गये मरीजों के लिये भोजन पर होने वाले व्यय की राशि 120 रुपये से बढ़ाकर 150 रुपये प्रत्येक व्यक्ति प्रतिदिन कर दी गई है अत: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और कोविड अस्पतालों के प्रभारी अधिकारी सुनिश्चित करें कि मरीजों को अच्छी क्वालिटी का भोजन मिले और भोजन आपूर्ति स्व-सहायता समूहों के माध्यम से भी कराने की व्यवस्था करें। उन्होंने कोरोना संक्रमण रोकने के लिये जिले के उद्योगों की निरंतर निगरानी करने के निर्देश उद्योग विभाग के अधिकारियों को दिये और कहा कि उद्योगों में शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देश का कड़ाई से पालन किया जाये।

कलेक्टर सिंह ने मुख्यमंत्री जन चौपाल में प्राप्त होने वाली रायगढ़ जिले से संबंधित शिकायतों का निपटारा प्राथमिकता के आधार पर करने और 2 महीने से अधिक समय से लंबित शिकायतों की जानकारी कारण सहित प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को आम नागरिकों द्वारा की जाने वाली शिकायतों की गभीरता को समझना चाहिये।

कलेक्टर सिंह ने गोधन न्याय योजना के विषय में सभी एसडीएम, सभी सीईओ को अपने क्षेत्र की गोठानों का समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण करने गोठान में गोबर खरीदी का प्रतिदिन का औसत चेक करने तथा पशुओं के चारे की व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री प्रारंभ हो जायेगी। अत: वन, कृषि, उद्यानिकी और रेशम विभाग के अधिकारी अपनी 3-4 महीने की आवश्यकता के अनुसार वर्मी कम्पोस्ट खाद का मांग पत्र अभी से प्रस्तुत कर दें। राज्य शासन द्वारा गोबर खरीदी की मात्रा की तुलना में तैयार होने वाले वर्मी कम्पोस्ट की मात्रा और क्वालिटी के आधार पर मूल्यांकन किया जायेगा।

यह भी पढ़ें : –जिले में स्थापित होने वाले उद्योगों में स्थानीय युवाओं को रोजगार मिले : कलेक्टर भीम सिंह

कलेक्टर सिंह ने शहरी क्षेत्र की गोठानों में गौशालाओं और डेयरी मालिकों को गोबर बिक्री के लिये प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों को गोबर खरीदी की मात्रा का विकासखण्डवार विवरण प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने यह भी कहा कि साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में प्रस्तुत की जाने वाली जानकारियों में समानता होनी चाहिये। जिससे प्रगति की वास्तविक समीक्षा की जा सके।

कलेक्टर सिंह ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को महानदी के डुबान क्षेत्र की वर्तमान स्थिति और वर्षो पूर्व में किये गये सर्वे में उल्लेखित डुबान क्षेत्र से मिलान कर विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को जिले की टूटी हुई एवं खराब सड़कों के बनाने का प्रस्ताव अभी से तैयार करने के निर्देश दिये जिससे बरसात के बाद कार्य प्रारंभ हो सकेगा।

कलेक्टर सिंह ने जिले के किसानों द्वारा खरीफ फसल के लिये गये ऋण और बैंकों द्वारा जारी किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी)की संख्या कम होने पर चिंता व्यक्त करते हुए कृषि, उद्यानिकी, पशु विभाग एवं लीड बैंक (एसबीआई)सहित सभी बैंकों के अधिकारियों की पृथक से बैठक बुलाने के निर्देश दिये। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि अंग्रेजी माध्यम स्कूल के 499 बच्चों को आनलाइन शिक्षा दी जा रही है।

कलेक्टर सिंह ने शेष बचे प्रवासी श्रमिकों का स्किल मेपिग कार्य पूर्ण करने के लिये निर्देश दिये और ऐसे प्रवासी मजदूरों को विभिन्न शासकीय योजनाओं के अंतर्गत लोन लेकर स्वयं का रोजगार प्रारंभ करना चाहते है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर लोन उपलब्ध कराने तथा स्वयं के रोजगार हेतु आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। समय-सीमा की बैठक में जिला स्तरीय विभाग के अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभागों से संबंधित जानकारियां दी गई। बैठक में एडीएम राजेन्द्र कटारा, सीईओ जिला पंचायत  ऋचा प्रकाश चौधरी तथा सभी जिला स्तरीय विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button