क्राइम

सातवीं के छात्र ने टीचर और उनकी बेटी को दी रेप की धमकी

स्कूल के स्टेटमेंट के मुताबिक, 'इस मामले में आरोपी छात्र ने साइबर प्रैंक किया है, जो बेहद आपत्तिजनक है

सातवीं के छात्र ने टीचर और उनकी बेटी को दी रेप की धमकी

गुरुग्राम के एक नामी स्कूल में सातवीं क्लास में पढ़ने वाले छात्र ने अपनी टीचर और उनकी बेटी को रेप की धमकी दी है। टीचर की बेटी छात्र की ही क्लास में पढ़ती है और आरोपी छात्र ने यह धमकी एक ऑनलाइन पोस्ट के जरिए दी है। इसी स्कूल से ऐसा एक और मामला सामने आया है, जहां आठवीं के छात्र ने अपनी टीचर को मेल कर कैंडललाइट डेट और सेक्स के लिए पूछा है।
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
दोनों मामले बीते सप्ताह के हैं। जिस टीचर को रेप की धमकी दी गई, वह तो स्कूल लौट आई हैं लेकिन उनकी बेटी डरी हुई है और स्कूल नहीं आ रही।

स्कूल के स्टेटमेंट के मुताबिक, ‘इस मामले में आरोपी छात्र ने साइबर प्रैंक किया है, जो बेहद आपत्तिजनक है। मामले की गहन जांच की गई है और सख्त कार्रवाई की जा चुकी है। आरोपी छात्र को सस्पेंड किया गया है और उसकी काउंसलिंग भी की गई है। ऐसी हरकतों को लेकर स्कूल जीरो-टॉलरेंस की नीति अपनाता है।’ हालांकि चाइल्ड वेलफेयर कमिटी की चेयरपर्सन शकुंतला धुल ने कहा कि मामलों को संज्ञान में लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘स्कूल और आरोपी छात्रों को नेटिस जारी किया जाएगा। उन्हें बुलाकर घटना के बारे में जानकारी ली जाएगी और टीचर्स-स्कूल प्रशासन और छात्रों के लिए काउंसलिंग सेशन आयोजित किए जाएंगे।’

ज्यादातर प्रिंसिपल्स का कहना है कि इस तरह का यह पहला मामला नहीं है। एचडीएफसी स्कूल की प्रिंसिपल अंकिता मक्कड़ ने कहा, ‘आजकल के बच्चे कई गैजेट्स का इस्तेमाल करते हैं जो उन्हें आक्रामक बना रहे हैं। हम नहीं जानते कि वे क्या-क्या देखते हैं, कौन-सी साइट्स पर जाते हैं।’

वहीं, ऐमिटी इंटरनैशनल स्कूल की प्रिंसिपल आरती चोपड़ा ने कहा, ‘आरोपी छात्र जरूर असहज महसूस करता होगा, व घर में एकाकी जीवन व्यतीत करता होगा और किसी से बात नहीं कर पाता होगा। जो बच्चे भावनात्मक तौर पर मजबूत नहीं होते, वे इसी तरह से अपना गुस्सा बाहर निकालते हैं। उनकी परवरिश सही ढंग से नहीं हो रही होती।’

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.