राष्ट्रीय

ओडिशा पहुंचा तितली तूफान, गोपालपुर और बेरहामपुर में उखड़े कई पेड़

11 और 12 स्कूल-कॉलेज बंद

नई दिल्ली :

आज ओडिशा मे तितली तूफान चक्रवाती रूप लेकर दस्तक दे दी है जिससे कि आज पूरे ओडिशा तट पर तितली तूफान का खौफ मंडरा रहा है। इसकी तीव्रता और भयानकता को देखते हुए खासतौर पर ओडिशा के लोग बेहद डरे हुए हैं।

तूफान की रफ्तार इतनी तीव्र है कि इससे गोपालपुर और बेरहामपुर में कई पेड़ उखड़ गए। वहीं तूफान से होने वाले हर नुकसान से निपटने के लिए प्रशासन मुस्तैद है, साथ ही अलग-अलग जिलों में एनडीआरएफ 18 टीमें तैनात कर दी गई हैं। तितली तूफान को लेकर ओडिशा, आंध्र प्रदेश, बंगाल के कई इलाकों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं राज्य सरकार आठ जिलों में ‘आरेंज वार्निंग‘ जारी कर चुकी है।

राज्य सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थानों और आंगनबाड़ी केंद्रों को 11 और 12 अक्तूबर को बंद रखे जाने की घोषणा की है। साथ ही कालेजों में होने वाले छात्रसंघ चुनावों को रद्द कर दिया है। सभी अधिकारियों के अवकाश रद्द करते हुए उन्हें तत्काल अपने मुख्यालयों में रिपोर्ट देने तथा तितली के प्रवेश के बाद राहत एवं बचाव अभियान में जुट जाने के निर्देश दिए गए हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक तितली तूफान 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है और इसके अगले 12 घंटे में और विकराल रूप धारण करने की आशंका है।

बंगाल की खाड़ी के ऊपर बुधवार को चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढऩे के बीच राज्य सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

बताया जा रहा है कि चक्रवाती तूफान की रफ्तार 165 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ रही है और उसके कारण भारी बारिश और तबाही आने की आशंका है।

Back to top button