शबरी नदी में आई बाढ़ से सुकमा से संपर्क टूटा, एनएच 30 में जाम

सुकमा।

भारी बारिश के चलते शबरी नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ा है। इसकी तेजधार के कारण इसमें चलने वाली नाव को बंद कर दिया गया। तो वहीं राष्ट्रीय राजमार्ग पर जल भराव होने के कारण आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। इसकी वजह से मोटू कोंटा से शबरी को पार कर आने वाले सैकड़ों यात्री फंस गए हैं।

उड़ीसा में आए चक्रवाती तूफान का असर राज्य के बस्तरांचल में भी पड़ा। इसके कारण सुकमा एक टापू बन कर रह गया है। यहां से रोज तेलांगाना, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा की ओर सैकड़ों लोग मजूरी या नौकरी की तलाश में जाते हैं। उधर से भी तमाम लोग छत्तीसगढ़ आते हैं। इन लोगों के शबरी नदी पार करने का एक मात्र साधन वही नाव है जिसे बंद कर दिया गया है।

लगातार हो रही बारिश के कारण एनएच-30 पर शबरी नदी का पानी आने से आंध्रप्रदेश के चिड़मुड़ कोंटा के इंजरम व आसीरगुड़ा गाँव के पुल पर भी पानी चढ़ गया है। इससे पिछले बीस घंटों से राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बाधित है। इसके कारण छत्तीसगढ़ का ओडिसा आंध्रप्रदेश और तेलंगाना से संपर्क टूट गया है।

ग्रामीण और मजदूर परेशान हैं क्योंकि उनकी कमाई का दूसरा कोई साधन नहीं है । इधर प्रशासन ने मुसाफिरों के लिए एसडीएम प्रदीप कुमार वैद के निर्देश पर भोजन की व्यवस्था की गई है। अधिकारी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक स्थिति एनएच-30 पर जाम की बनी हुई है।

Back to top button