यूपी निकाय चुनाव: बीजेपी कैंडिडेट को हराकर लखनऊ नगर निगम की सबसे युवा पार्षद बनीं शादिया रफीक

लखनऊ: यूपी निकाय चुनाव इस बार कई मामले में यादगार रहें. लखनऊ निकाय चुनाव में वार्ड 34 तिलकनगर से 23 वर्षीय निर्दलीय प्रत्याशी शादिया रफीक ने रिकॉर्ड जीत दर्ज की है.

इसी के साथ वह लखनऊ की सबसे कम उम्र की पाषर्द बन गई हैं. शादिया ने भाजपा की अर्चना द्विवेदी को करीब 535 वोटों के अंतर से हराया, शादिया को कुल 3,170 वोट मिले हैं.

एमिटी यूनिवर्सिटी से मास कॉम की छात्रा शादिया रफीक अपने पिता रफीक अहमद की विरासत आगे बढ़ाने राजनीति में आईं और उन्होंने निकाय चुनाव लड़ा.

दरअसल, वार्ड 34 तिलकनगर से कांग्रेस से रफीक अहमद 1989 में पार्षद बने थे. इसके बाद यह महिला सीट हो गई तो कोई चुनाव नहीं लड़ा. 2012 में फिर बेटा आदिल अहमद चुनाव लड़ा और निर्दलीय जीता. इस बाद फिर परिसीमन में महिला वार्ड हुआ तो सभी ने तय किया कि शादिया चुनाव लड़े.

शादिया कहती हैं, ‘वह सबसे पहले पेयजल समस्या को दूर करने का काम करेंगी. उनके वार्ड में युवतियां, महिलाएं और छोटे बच्चे बाहर से पानी भरते हैं.’ अपनी जीत को उन्होंने अपने माता-पिता और जनता को समर्पित किया है.

शादिया ने कहा कि वार्ड में सीवर भी क्षेत्र की बड़ी समस्या है, वह इसके समाधान का प्रयास करेंगी. बता दें कि यूपी निकाय चुनाव में मेयर पद के लिए 16 सीटों में से भाजपा ने 14 सीटों पर कब्जा किया, वहीं बसपा दो सीटें जीतने में कामयाब रहीं.

Back to top button