महागठबंधन में दरार की छाया: सफाई में जेसीसीजे केंद्रीय संयोजक ने ये कहा

रायपुर:

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जोगी)-बहुजन समाज पार्टी-सीपीआई के महागठबंधन ने छत्तीसगढ़ के राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी थी, लेकिन फिलहाल संभावना ये है कि महागठबंधन टूटने की कगार में है।इसके पीछे वजह निकलकर ये आ रही कि महागठबंधन के निर्णय में सीपीआई को 2 सीटों पर चुनाव लड़ने को कहा गया था।लेकिन इसके विपरीत सीपीआई ने 5 सीटों पर प्रत्यशियों के नामों की घोषणा कर दी है।

सीपीआई ने बाकायदा 5 विधानसभा क्षेत्र से 5 प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर दिए हैं।इधर महागठबंधन के दरार की खबरों के आशंका के बीच क्लिपर 28 की टीम ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के केंद्रीय संयोजक तिलकराम देवांगन से चर्चा की।

इस दौरान केंद्रीय संयोजक ने महागठबंधन में दरार की खबरों को गलत बताया।उन्होंने कहा कि महागठबंधन में सीपीआई को 2 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने को कहा गया था, जिस पर पार्टी चुनाव भी लड़ रही है।लेकिन अन्य तीन सीटों पर सीपीआई फ्रेंडली फाइट कर रही है।

ऐसी स्थिति में महागठबंधन में बगावत या दरार की खबर गलत है।वहीं अजीत जोगी के चुनाव ना लड़ने के फैसले पर केंद्रीय संयोजक तिलकराम ने कहा कि जेसीसीजे पार्टी सुप्रीमो की प्रदेश के 90 विधानसभा सीटों में आवश्यकता है।इसलिए सभी विधानसभा में प्रचार-प्रसार की जरूरत को देखते हुए अजीत जोगी ने महागठबंधन के निर्णय पर यह फैसला लिया है।

Back to top button