शाहनवाज हुसैन नहीं लड़ेंगे आगामी चुनाव, रविशंकर को मिला पटना साहिब से टिकट

नितिन गडकरी को नागपुर से टिकट मिला

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में बीती रात करीब 8 घंटे का भारतीय जनता पार्टी का महामंथन चला. बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शाम करीब 6.30 बजे शुरु हुई जो 2 बजकर 20 मिनट पर पहुंचीं, पीएम मोदी पूरी मीटिंग में एक-एक नाम सुनते रहे और पार्टी नेताओं के साथ मिलकर फैसला लेते रहे.

इंतजार तो था कि पार्टी करीब 100 नामों का एलान कर देगी, लेकिन शाम से रात हो गई. रात से आधी रात और ऐसे ही मंथन का दौर चलता रहा. तब जाकर 2019 के आगामी चुनावी समर के लिए पार्टी ने कई नामों पर फैसला ले लिया. इसके मुताबिक- रविशंकर प्रसाद को पटना साहिब से टिकट मिला है. 2014 में शत्रुघ्न सिन्हा ने यहां से चुनाव लड़ा था. लेकिन बागी तेवर के चलते उनका टिकट कटना तय माना जा रहा था.

राधामोहन सिंह की भी सीट बरकरार है. राजीव प्रताप रुडी छपरा से ही उम्मीदवार होंगे. बिहार के पश्चिमी चंपारण से संजय जायसवाल को टिकट मिला. नितिन गडकरी को नागपुर से टिकट मिला है. किरिट सोमैया को मुंबई नॉर्थ ईस्ट से पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है. पूनम महाजन मुंबई नॉर्थ सेंट्रल से चुनाव लड़ेंगी.

लेकिन निराशाजनक खबर रही पार्टी नेता शाहनवाज हुसैन के लिए. जानकारी के मुताबिक अब वे चुनाव नहीं लड़ेंगे. शाहनवाज हुसैन अब तक बिहार के भागलपुर से चुनाव लड़ते थे, लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें चुनाव नहीं लड़ाने का फैसला किया है.

बीजेपी मुख्यालय में हुई बैठक में त्रिपुरा, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, बिहार, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और छत्तीसगढ़ के उम्मीदवारों पर चर्चा हुई. खासकर उन सीटों पर पहले विचार हुआ जहां पहले चरण में ही 11 अप्रैल को मतदान होना है.

Back to top button