शाहरुख खान ने उनकी फिल्म ‘इंटरकोर्स’ शब्द पर सेंसर बोर्ड की आपत्ति पर दिया यह बयान

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) द्वारा उनकी आगामी फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ के एक ट्रेलर वीडियो में ‘इंटरकोर्स’ (यौन संबंध) शब्द के उपयोग पर आपत्ति जताई गई थी. इम्तियाज अली द्वारा निर्देशित इस फिल्म के कुछ मिनट के एक ट्रेलर वीडियो में अभिनेत्री अनुष्का शर्मा अभिनेता शाहरुख खान से कह रही हैं कि यदि प्रेमी जोड़ा यौन संबंध बनाना बंद करते हैं, तो इसके लिए किसी कानूनी पचड़े में नहीं पड़ना होगा.बॉलीवुड के सुपरस्टार अभिनेता शाहरुख खान ने इस पर कहा कि न ही उनका और न ही इस फिल्म से जुड़े लोगों का इरादा इस फिल्म को बेचने के लिए इसमें अनुचित चीजों का उपयोग करने का था.
फिल्म का यह डायलॉग सीबीएफसी के अध्यक्ष पहलाज निहलानी को ठीक नहीं लगा और उन्होंने फिल्म के इस कुछ मिनट के ट्रेलर के प्रसारण की निंदा करते हुए कहा था कि इसको देखने का मतलब केवल डिजिटल का उपभोग करना है. लोगों की ओर से उनके बयान की आलोचना होने के बाद उन्होंने मांग की कि अगर आम लोगों से इसके समर्थन के लिए एक लाख वोट पाते हैं तो वह इस फिल्म में उपयोग हुए शब्द ‘इंटरकोर्स’ को अपनी सहमति दे देंगे.

इस पूरे मामले में ‘किंग खान’ के क्या विचार हैं, पूछे जाने पर शाहरुख ने यहां ईद के मौके पर मीडिया से हंसते हुए कहा, “मैं सोचता हूं कि मेरी उम्र 18 वर्ष से कम है, इसलिए मैं इसमें वोट नहीं दे सकता.”

सेंसर बोर्ड पूरी फिल्म देखकर ले निर्णय

उन्होंने कहा, “मैं और फिल्म का कोई सदस्य-इम्तियाज, इरशाद (गीतकार इरशाद कामिल) साहब, प्रतीम दा किसी तरह के अनुचित शब्द का उपयोग नहीं करेगा, जो किसी परिवार या किसी की भी भावना को क्षति पहुंचाता हो. हमें अभी फिल्म को सेंसर बोर्ड को भेजना है और उन्हें पूरी फिल्म देखनी चाहिए उसके बाद निर्णय लेना चाहिए.”

Back to top button