शाजापुर में उपद्रव मामले में 28 नामजद सहित 155 आरोपी

शाजापुर. शहर में शनिवार को हुए उपद्रव मामले में पुलिस ने बलवा, शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने, पथराव, मारपीट व प्राणघातक हमले के कुल 7 केस दर्ज किए हैं. इनमें 28 नामजद समेत 155 आरोपी हैं. रात में ही 8 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. रविवार को उज्जैन एडीजी वी. मधुकुमार ने विवादित स्थल मेला ग्राउंड के पास और काछीवाड़े का निरीक्षण किया.

पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक ली. इधर, रविवार को स्थिति सामान्य रही. बाजार खुले और लोगों की चहल-कदमी रही. हालांकि, साप्ताहिक बाजार में बाहरी व्यापारी व खरीददारों की संख्या कम रही. उल्लेखनीय है कि पत्थरबाजी में एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी व आमजन घायल हुए थे. इसके अलावा 20 से ज्यादा दोपहिया, ऑटो, कार व मेटाडोर वाहन भी क्षतिग्रस्त कर दिए गए. पत्थरबाजी के दौरान कलेक्टर अलका श्रीवास्तव ने दौड़कर अपनी जान बचाई थी.

ये था मामला

इकबाल की मृत्यु होने पर उसे दफनाने के लिए खसरा नंबर 244 श्मशान स्थल पर परिवारजन लेकर आने वाले थे. चूंकि, यह जगह श्मशान की होने से एक समुदाय ने विरोध किया. दूसरे पक्ष ने मान्य करते हुए कब्रिस्तान खसरा नंबर 206 में शव को दफना दिया. इसी बीच दोनों समुदाय के मौजूद लोगों के बीच तनाव की स्थिति होने पर उन्हें समझाया गया, लेकिन पत्थरबाजी से स्थिति खराब हो गई.

Back to top button