छत्तीसगढ़

एकाएक राजनीति में उभरे शरद देवांगन, गोंगपा से चुनावी मैदान मे प्रमुख पार्टियों की नींद उड़ा चुके हैं

कटघोरा: यू तो राजनीति में कई चेहरे एकाएक चमक उठे हैं पर कटघोरा के शरद देवांगन का एकदम से यू राजनीति में आना कई लोगो को हजम नही हो रहा है।राजनीति से कोसों दूर रहने के बावजूद 2019 के नगरीय निकाय चुनाव में शरद देवांगन गोंगपा से पार्षद चुनाव भी लड़े और पहली मर्तबा ही लोगो के बीच मजबूत पकड़ बनाई और चुनावी नतीजो के दरमियान ट्राई की नोबत पर पहुँच प्रमुख़ दलों के प्रत्यासियो की नींद उड़ा चुके हैं।

वैसे तो शरद देवांगन को पहले राजनीति में कहीं देखा नही गया लेकिन नगरीय निकाय चुनाव में गोंगपा से एकाएक जनता के बीच से उभर कर आये औऱ गोंगपा ने शरद को पार्षद के लिए उम्मीदवार घोषित किया और नतीजो में इनको 244 मत मिले और महज 5 वोट इनकी हार हुई।इनकी हार ने प्रमुख पार्टियों के पसीने छुड़ा दिए आखिरकार एकाएक उभरा चेहरा पहली मर्तबा ही इतनी ऊपर जा सकता।आने वाले दिनों में शरद की राजनीति गोंगपा के लिए कारगर सिद्ध होगी।

चर्चा के दौरान शरद ने बताया कि चुनाव में जनता का पूरा सहयोग मिला और जीत हार लगी रहती है जनता ने भरपूर सहयोग किया। हार जाने से मेरे से ज्यादा उस जनता को अहसास हुआ जिन्होंने मेरे से उम्मीद रखी हुई थी। स्कूली बच्चों की पढ़ाई के उचित ट्यूशन क्लासेस का प्रबंध और पढ़े लिखे युवाओं के लिए रोजगार की व्यवस्था करना ये प्रथम मुद्दे थे। पार्षद नही बन पाया फिर भी हमेशा गोंगपा से जुड़ कर जनहित जैसे कार्यो से जुड़ कर जनता की सेवा करना मेरा पहला कर्तव्य रहेगा।

अगर शरद की लोकप्रियता इस कदर जारी रही तो गोंगपा आने वाले दिनों में मुकाम हासिल कर सकती है।भाजपा कांग्रेस को पहली बार मे ही कड़ी टक्कर देने बाद अब शरद विधानसभा चुनाव की तैयारी में दिखाई दे रहे हैं।

Tags
Back to top button