ज्योतिष

शारदीय नवरात्रि आज से शुरू: गुजरात सरकार ने पैकेट में प्रसाद वितरण की छूट दी, पूजा-आरती भी कर सकेंगे

गरबा नहीं होगा

गांधीनगर। 17 अक्टूबर: शनिवार यानी आज से शारदीय नवरात्रि शुरू हो गए हैं। ऐसे में गुजरात सरकार ने कोरोना अनलॉक 5 की गाइडलाइन में बदलाव करते हुए आमजन को कुछ नई छूट दी हैं। प्रसाद वितरण पर लगी रोक हटा ली गई। हालांकि, प्रसाद वितरण की शर्त यही रहेगी की कोई भी खाद्य पैकेट में होना चाहिए। सरकार ने कहा है कि, लोगों को अपनी सोसायटी के भीतर पूजा-आरती के लिए अब किसी प्रसाशनिक अनुमति की जरूरत नहीं पड़ेगी। हां, सार्वजनिक जगहों पर मूर्ति स्थापना, व पूजा-आरती के लिए अनुमति आवश्यक होगी। पहले ऐसे सभी कार्यक्रमों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य किया गया था।

गुजरात सरकार ने गाइडलाइन में किया संशोधन

नवरात्रि के लिए जारी गाइडलाइन में गुजरात सरकार ने फिर स्पष्ट कहा है कि, कहीं पर भी गरबा नृत्य आयोजित नहीं करने दिए जाएंगे। इसके अलावा गृह राज्‍यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने सरकार का बचाव करते हुए कहा का मंदिर बंद रखने का फैसला राज्य सरकार का नहीं है। यह फैसला मंदिर ट्रस्टों द्वारा लिया गया है। गृह राज्‍यमंत्री ने यह भी कहा कि 7 जून से राज्य के सभी मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोले जा चुके हैं। इसके बाद से अब तक किसी भी मंदिर को बंद रखने का आदेश सरकार द्वारा जारी नहीं किया गया। कोरोना के मामलों के चलते यह फैसला खुद मंदिर ट्रस्टों द्वारा लिया जा रहा है। अब क्योंकि, नवरात्रि पर मंदिर में श्रद्धालुओं की इतनी भीड़ होती है कि मंदिर प्रशासन काबू नहीं कर पाते, तो कोरोना फैलने का खतरा रहेगा। ऐसे में मंदिर बंद ही रखे जा सकते हैं।

17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक नवरात्रि

2020 में शारदीय नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू होकर 25 अक्टूबर तक रहेंगे। इस बार घट स्थापना के लिए दिनभर में 3 शुभ मुहूर्त हैं। नवरात्रि के पहले दिन सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा है, जिसका शुभ प्रभाव देशभर में रहेगा। वहीं, इस बार इस बार देवी का आगमन घोड़े पर और प्रस्थान भैंसे पर होना राजनीति में बड़े बदलाव का संकेत माना जा रहा है। इस नवरात्रि में प्रॉपर्टी और व्हीकल खरीदारी के लिए विशेष शुभ मुहूर्त रहेंगे। इस बार और एक अलग बात यह सामने आई है कि, इस नवरात्रि में नवमी तिथि 24 और 25 अक्टूबर, यानी दोनों दिन है। ऐसे में पंचांग भेद के कारण कुछ हिस्सों में दशहरा 25 को, तो कहीं 26 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button